close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन में उठ सकता है मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी सूची में डालने का मुद्दा

वार्षिक त्रिपक्षीय बैठक में शामिल होने के साथ ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगी

चीन में उठ सकता है मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी सूची में डालने का मुद्दा
चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ स्वराज की बैठक का काफी महत्व है

नई दिल्ली: रूस, भारत और चीन (आर आई सी) के विदेश मंत्रियों की यहां बुधवार को होने जा रही बैठक में पुलवामा आतंकी हमले और पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने का मुद्दा प्रमुखता से उठ सकता है.

वार्षिक त्रिपक्षीय बैठक में शामिल होने के साथ ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगी. आर आई सी विदेश मंत्रियों की बैठक में अजहर को संयुक्त राष्ट्र की 1267 समिति द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित करने का मुद्दा उठने की उम्मीद है.

चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ स्वराज की बैठक का काफी महत्व है क्योंकि पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बीच यह पहला उच्चस्तरीय संवाद है. वीटो शक्ति प्राप्त चीन अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के भारत, अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के प्रयासों में वर्ष 2016 से बार-बार अड़ंगा लगाता रहा है, लेकिन इसने पुलवामा आतंकी हमले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा जारी कड़े बयान का समर्थन किया था. 

अजहर को संयुक्त राष्ट्र से वैश्विक आतंकी घोषित कराने का मुद्दा 1267 समिति के समक्ष पुन: उठने की उम्मीद है क्योंकि वीटो प्राप्त फ्रांस ने कहा है कि वह इस संबंध में दोबारा प्रस्ताव लाएगा. यह मुद्दा रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के साथ स्वराज की बैठक में भी प्रमुखता से उठने की उम्मीद है. यह आर आई सी विदेश मंत्रियों की 16वीं बैठक है.

(इनपुट-भाषा)