रूस के साथ बातचीत में कोई कामयाबी हासिल नहीं हुई : नाटो प्रमुख

इसका कोई संकेत नहीं मिला है कि रूस उस मिसाइल प्रणाली को छोड़ने की इच्छा रखता है जिसके बारे में नाटो का कहना है 

रूस के साथ बातचीत में कोई कामयाबी हासिल नहीं हुई : नाटो प्रमुख
अमेरिका ने इस महीने की शुरुआत में खुद को आईएनएफ संधि से अलग कर लिया था (फाइल फोटो)

म्यूनिखः यूरोप में हथियार जमा करने की नई होड़ की आशंका के बीच रूस ने शीत युद्ध मिसाइल नियंत्रण समझौते को लेकर शुक्रवार को “कोई नए संकेत” नहीं दिए हैं. नाटो के प्रमुख ने यह जानकारी दी. महासचिव जेन्स स्टोलटनबर्ग ने कहा रूसी विदेश मंत्री सरगेई लावरोव के साथ हुई मुलाकात में कोई बड़ी कामयाबी हासिल नहीं हुई है. इसका कोई संकेत नहीं मिला है कि रूस उस मिसाइल प्रणाली को छोड़ने की इच्छा रखता है जिसके बारे में नाटो का कहना है कि यह इंटरमीडिएट रेंज न्यूक्लियर फोर्सेज (आईएनएफ) संधि का उल्लंघन है.

विश्व बिरादरी से भारत ने की अपील, मसूद अजहर और पा‍कि‍स्‍तान के आतंकी संगठनों को करो बैन

भविष्य में 1987 समझौते के समाप्त हो जाने के खतरे ने आने वाले दिनों में निरस्त्रीकरण के खिलाफ खिलाफ लड़ाई के भविष्य को लेकर संदेह पैदा कर दिया है. जर्मनी के विदेश मंत्री हीको मास ने कहा कि समझौते को बचाए रखने के लिए रूस, अमेरिका और यूरोपीय राष्ट्रों के बीच ज्यादा बातचीत किए जाने की तत्काल जरूरत है. रूस के 9एम729 मिसाइल की तैनाती के जवाब में अमेरिका ने इस महीने की शुरुआत में खुद को आईएनएफ संधि से अलग कर लिया था जिसके बाद रूस भी इससे अलग होने की घोषणा की थी.

(इनपुट भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.