close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंडमान निकोबार की तरफ बढ़े पाबुक के कदम, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

केंद्र सरकार ने चक्रवाती तूफान की चपेट में आये अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए "ऑरेंज" अलर्ट जारी किया है

अंडमान निकोबार की तरफ बढ़े पाबुक के कदम, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः चक्रवाती तूफान 'पाबुक' के अंडमान और निकोबार द्वीप समूहों की तरफ बढ़ने के साथ  केंद्र सरकार ने चक्रवाती तूफान की चपेट में आये अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए "ऑरेंज" अलर्ट जारी किया है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि चक्रवात "पाबुक" द्वीप समूह की ओर बढ़ रहा है और वर्तमान में यह तूफान अंडमान सागर और उसके आसपास मंडरा रहा है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के लिए "ऑरेंज" चेतावनी जारी की गई है.

भारत में आए भयानक चक्रवात का नाम पाकिस्‍तान ने 'तितली' क्‍यों रखा?

"ऑरेंज" अलर्ट, मौसम की एक चेतावनी है, जिसका मतलब कि लोगों को "तैयार रहना" चाहिए और खराब या अत्यंत खराब मौसम की आशंका तेज है, जिससे सड़क और हवाई यात्रा बाधित हो सकता है. साथ ही जीवन और संपत्ति को भी खतरा हो सकता है.अभी अंडमान सागर और उसके आस-पास के क्षेत्र के ऊपर मौजूद 'पाबुक' पिछले छह घंटे में 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है. 

अब उठी अंडमान और निकोबार के नाम बदलने की मांग, इन नामों का दिया सुझाव

मौसम विभाग ने सात जनवरी तक अंडमान सागर और मध्यपूर्वी एवं दक्षिणपूर्वी बंगाल की खाड़ी से सटे इलाकों और आठ जनवरी तक मध्यपूर्वी एवं दक्षिणपूर्वी बंगाल की खाड़ी में मछली पकड़ने की गतिविधियों को पूरी तरह निलंबित रखने की सलाह दी. अधिकारी ने बताया कि इसके उत्तर-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ते रहने और 65 से 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से रविवार की रात को अंडमान द्वीप को पार करने की संभावना है. इसके बाद चक्रवात के उत्तर-उत्तर पश्चिम की दिशा में बढ़ने और फिर वापस म्यामां तट की ओर मुड़ने की संभावना है, फिर धीरे-धीरे इसके कमजोर पड़ने की संभावना है.