झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री बने हेमंत सोरेन, कांग्रेस के कोटे से दो लोग बने मंत्री

JMM के नेता हेमंत सोरेन झारखंड के 11 वें मुख्यमंत्री बन गये हैं. शपथ ग्रहण समारोह रांची के मोरहाबादी मैदान में हो रहा है. उनके साथ में कांग्रेस से दो लोगों ने और राजद से एक विधायक ने शपथ ली.

 झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री बने हेमंत सोरेन, कांग्रेस के कोटे से दो लोग बने मंत्री

रांची: झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है. वे राज्य के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं. राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने उन्हें मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई है. हेमंत सोरेन के अलावा कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम, रामेश्वर उरांव और आरजेडी विधायक सत्यानंद भोक्ता ने हेमंत सोरेन के साथ मंत्री पद की शपथ ली है.

कांग्रेस के कोटे से दो मंत्री

हेमंत सोरेन के अलावा कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम, रामेश्वर उरांव और आरजेडी विधायक सत्यानंद भोक्ता ने हेमंत सोरेन के साथ मंत्री पद की शपथ ली. कांग्रेस की तरफ दो लोग सोरेन सरकार में शामिल हुए हैं. रामेश्वर उरांव कांग्रेस की झारखंड इकाई को अध्यक्ष भी हैं.

राजद से एक मंत्री 

नयी सोरेन सरकार में राजद की ओर से इकलौते विधायक सत्यानंद भोक्ता को शपथ दिलाई गयी. बता दें कि हेमंत सोरेन झारखंड के दूसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं.

ममता बनर्जी समेत कई दिग्गज रहे मौजूद

मंच पर राहुल गांधी, ममता बनर्जी, भूपेश बघेल, तेजस्वी यादव समेत कई नेता मौजूद थे. समारोह के लिए 14 दलों के 30 नेताओं को न्यौता दिया गया था. आम आदमी पार्टी की ओर से राज्यसभा सांसद संजय सिंह भी इसमें शामिल हुए. साथ ही भाजपा की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री रघुवरदास भी कार्यक्रम में मौजूद थे.

हेमंत सोरेन दूसरी बार बने मुख्यमंत्री

हेमंत सोरेन दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं. इससे पहले हेमंत ने जुलाई 2013 में मुख्यमंत्री बने थे. जेएमएम-राजद-कांग्रेस के साथ मिलकर उन्होंने 1 साल 5 महीने 15 दिनों तक सरकार चलाई थी. बता दें कि हेमंत के पिता शिबू सोरेन भी 3 बार राज्य के सीएम रहे हैं. तीनों कार्यकालों में वह सिर्फ 10 महीने 5 दिन ही मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे, जो हेमंत के एक कार्यकाल से काफी कम है.

ये भी पढ़े- PM के मन की बात: अराजकता और हिंसा से चिढ़ता है देश का युवा