नेवी ने बचा लिया, क्रैश हो सकती थी स्पाइस जेट की फ्लाइट

विमान को लैंड कराने के पहले प्रयास के दौरान ही नेवल एयरबेस पर तैनात एक अधिकारी ने इस गड़बड़ी को देख लिया, जिसके बाद एयरपोर्ट के एटीसी की मदद से उन्होंने चालक दल को इसकी जानकारी दी. इससे हादसा होने से बच गया. 

नेवी ने बचा लिया, क्रैश हो सकती थी स्पाइस जेट की फ्लाइट

पणजीः गोवा इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर मंगलवार को स्पाइसजेट का एक विमान हादसे का शिकार होने से बच गया. विमान की लैंडिंग के दौरान ही लैंडिंग गियर का अगला हिस्सा ठीक से नहीं खुल सका, जिसके कारण दो बार फ्लाइट की लैंडिंग नहीं हो सकी. गनीमत यह रही कि विमान को लैंड कराने के पहले प्रयास के दौरान ही नेवल एयरबेस पर तैनात एक अधिकारी ने इस गड़बड़ी को देख लिया, जिसके बाद एयरपोर्ट के एटीसी की मदद से उन्होंने चालक दल को इसकी जानकारी दी.

बताया जा रहा है कि गोवा के नेवल एयर स्टेशन आईएनएस हंसा पर एयरमैन रमेश टिग्गा एयर ट्रैफिक कंट्रोल सेंटर में ड्यूटी पर थे. अपनी ड्यूटी के दौरान ही टिग्गा ने देखा कि गोवा एयरपोर्ट पर लैंडिंग के लिए तैयार स्पाइजेट के विमान एसजी- 3568 का लैंडिंग गियर पूरी तरह से खुल नहीं सका है. टिग्गा ने तत्काल इसकी जानकारी एटीसी के अधिकारियों को दी, जिन्होंने विमान के चालक दल को दोबारा लैंडिंग का प्रयास करने के लिए कहा.

सुबह 8.05 बजे कराई गई लैंडिंग
दूसरे प्रयास में भी लैंडिंग गियर का अगला हिस्सा पूरी तरह से नहीं खुल सका. इसके बाद तीसरे प्रयास में किसी तरह विमान को एयरपोर्ट की इमर्जेंसी टीमों की मौजूदगी में किसी तरह लैंड कराया जा सका. इसके बाद विमान के सभी यात्रियों को इससे बाहर निकाला गया. भारतीय नौसेना के प्रवक्ता ने बताया कि सुबह 8.05 बजे विमान को पूरी सतर्कता के साथ लैंड कराया गया. नेवी ने अपने बयान में कहा कि नेवल एयर ट्रैफिक की सतर्कता और स्पाइसजेट के चालक दल की सूझबूझ के कारण विमान को एक बड़ी दुर्घटना से बचाया जा सका. 

इंडिगो के विमान में लगातार आ रही गड़बड़ियां
इंडिगो एयरलाइंस के विमान में पिछले दिनों लगातार गड़बड़ियां दर्ज की गई हैं. सोमवार 16 दिसंबर को भी इंडिगो के विमान में तकनीकी खामी दर्ज की गई थी. पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी के बागडोगरा से उड़ान भरने वाली इंडिगो के विमान में तकनीकी खराबी आई थी, जिसकी वजह से विमान को वापस लौटना पड़ा. विमान में कुल 180 यात्री सवार थे. विमान ने दोपहर 12ः30 बजे उड़ान भरी थी, लेकिन कुछ ही मिनट के बाद विमान में तकनीकी खराबी आ गई जिसकी वजह से विमान को वापस लौटना पड़ा था.