close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Rekha Garg

फलक पर चमका आशा और उम्मीदों का सितारा

फलक पर चमका आशा और उम्मीदों का सितारा

चुनाव के नतीजे सामने आये तो दिल बाग-बाग हो गया. हर तरफ कमल खिल गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आस्था का इतना सैलाब उमड़ेगा इसकी आशा तो थी पर अंदाजा नहीं था. मन के किसी कोने में एक भय भी था.

मुस्कान, परिवार नहीं ये धड़कने सिर्फ वतन के लिए

मुस्कान, परिवार नहीं ये धड़कने सिर्फ वतन के लिए

कहां से आता है इतना धैर्य,इतनी हिम्मत,इतना साहस,सामने अपने प्रिय का बेजान शरीर है. शहादत हुई है फिर भी देश पर मर-मिटने की चाह है. मुस्कराकर अपने प्रिय को विदा करने की हिम्मत है.

शहीदों की शहादत को शत-शत नमन

शहीदों की शहादत को शत-शत नमन

जिंदगी का कतरा-कतरा बिखर गया, सुनहरा संसार उजड़ गया. कितना कुछ खत्म हो गया क्षण भर के धुएं के गुबार में. कितनी अनमोल जिंदगियां समाप्त हो गईं, एक पल के आगोश में.

हमारे लिए देश सर्वोपरि है...

हमारे लिए देश सर्वोपरि है...

कहते हैं राजनीति का आईना बड़ा धुंधला होता है. वैसे तो राजनीति हमेशा से ही समझ से परे की बात रही है, लेकिन आज तो राजनीति की परिभाषा ही बदल गई है.

दर्द का पैगाम देती सड़कें

दर्द का पैगाम देती सड़कें

यूं तो चिट्ठी, तार,फोन से सुख-दुख की कुछ ना कुछ खबर आती ही रहती है, पर सड़कों से आती मौत की खबर वास्तव में बहुत दर्दनाक हैै.

काश कि खुशियां सबके दामन में हों, वह दिन कब आएगा

काश कि खुशियां सबके दामन में हों, वह दिन कब आएगा

वर्तमान की मूलभूत आवश्यकता है हर घर-परिवार में किसी भी एक व्यक्ति का रोजगार जरुर बना रहे. महंगाई के दौर में घर का हर सदस्य काम से लगा रहे, आजीविका का साधन बना रहे, तभी परिवार चलता है.

हम कब समझेंगे पानी की एक बूंद की कीमत

हम कब समझेंगे पानी की एक बूंद की कीमत

जीवन स्त्रोत पानी हमारी जिन्दगी के लिए कितना जरुरी है, ये किसी को बताने की आवश्यकता नहीं है. पानी नहीं तो हमारा अस्तित्व भी नहीं. पानी को व्यर्थ न बहने के लिए कितने ही प्रयास किए जा रहे हैं.

प्रेम का बन्धन अटूट है

प्रेम का बन्धन अटूट है

विवाह करके गृहस्थी की बागडोर संभाले हुए, एक दूसरे के साथ चलते-चलते अचानक ऐसा क्या हो जाता है कि एक-दूसरे से कटु हो जाते हैं औेर अलग होने का मन बना लेते हैं, आजादी सबको अच्छी लगती है पर इस आजादी का

केवल बेटियां ही नहीं बेटे भी संस्कार लेकर बड़े हों...

केवल बेटियां ही नहीं बेटे भी संस्कार लेकर बड़े हों...

आज समाज में चारों तरफ हिंसा, निराशा भय, एक दूसरे को नुकसान पहुंचाने की प्रवृति, तोड़-फोड़ गलत ढंग से सुविधा प्राप्त करने की चेष्टा करना, महिलाओं से अभद्र व्यवहार करना और बड़ों का अपमान करना आम सी बात

Opinion: योग ही साधना है, देश का एक अनमोल वरदान है

Opinion: योग ही साधना है, देश का एक अनमोल वरदान है

कहते हैं मानव जन्म बड़ी मुश्किल से मिलता है. श्रेष्ठतम मानव शरीर का मिलना अच्छे कर्मो का ही फल है.