ICICI लोन फ्रॉड मामले में चंदा कोचर की मुश्किलें बढ़ी, अब ED ने मामला दर्ज किया

 इस मामले में चंदा कोचर के पति दीपक कोचर, वीडियोकॉन समूह के प्रवर्तक वेणुगोपाल धूत और कुछ अन्य को भी आरोपी बनाया गया है. 

ICICI लोन फ्रॉड मामले में चंदा कोचर की मुश्किलें बढ़ी, अब ED ने मामला दर्ज किया
चंदा कोचर ने एक मई 2009 को कंपनी के सीईओ का पद संभाला था. (फाइल)

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ICICI बैंक की पूर्व प्रबंध निदेशिका (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का आपराधिक मामला दर्ज किया है. वीडियोकॉन समूह को 1,875 करोड़ रुपये का ऋण मंजूर करने में कथित अनियमिता और भ्रष्टाचार की जांच के सिलसिले में दर्ज इस मामले में चंदा कोचर के पति दीपक कोचर, वीडियोकॉन समूह के प्रवर्तक वेणुगोपाल धूत और कुछ अन्य को भी आरोपी बनाया गया है. 

अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि जांच एजेंसी ने इस मामले में पिछले महीने सीबीआई द्वारा दर्ज शिकायत का संज्ञान लेते हुए मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून के तहत प्रवर्तन प्राथमिकी (ईसीआईआर) दाखिल की है. अधिकारियों ने कहा कि एजेंसी इस बात की भी जांच करेगी कि कहीं इस ऋण सौदे में की मंजूरी में कथित रिश्वत दी की रकम के शोधन के लिए उसका दागी सम्पत्तियों में निवेश तो नहीं किया गया है.

चंदा कोचर के खिलाफ ICICI कर सकती है बड़ी कार्रवाई, चुकाने पड़ सकते हैं 350 करोड़

ईडी जल्द ही आरोपियों को सम्मन जारी कर सकता है. ईडी ने चंदा कोचर, दीपक कोचर, वेणुगोपाल धूत और उनकी कंपनी वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड को मामले में नामजद किया है. सीबीआई ने भी इन व्यक्तियों/ इकाइयों को नामजद किया है. इसमें धूत की कंपनी सुप्रीम एनर्जी और दीपक कोचर के नियंत्रण वाली न्यूपावर रीन्यूएबल पर भी मामला दायर किया गया है. आरोप है कि धूत ने संबंधित बैंक से लोन मंजूर करवाने के लिए दीपक कोचर को निवेश के जरिए लाभ पहुंचाया. चंदा कोचर ने एक मई 2009 को कंपनी के सीईओ का पद संभाला था. 

(इनपुट-भाषा)