close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: 'ऋषभ पंत के टीम में शामिल नहीं होने से थोड़ा हैरान हूं'

गावस्कर ने कहा कि यह कदम हैरानी भरा है लेकिन उन्होंने बेहतर विकेटकीपर के तौर पर कार्तिक का समर्थन किया.

World Cup 2019: 'ऋषभ पंत के टीम में शामिल नहीं होने से थोड़ा हैरान हूं'
गावस्कर ने कहा कि पंत की फॉर्म को देखते हुए यह थोड़ा हैरानी भरा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने सोमवार को कहा कि वह युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के भारत की वर्ल्ड कप (World Cup 2019) टीम से बाहर होने से हैरान हैं क्योंकि वह काफी ‘बेहतरीन’ बल्लेबाजी फार्म में हैं और उसके विकेटकीपिंग कौशल में सुधार हो रहा है. 33 वर्षीय दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने भारत की वर्ल्ड कप के लिये चुनी गयी 15 सदस्यीय टीम में दूसरे विकेटकीपर के स्थान पर पंत को पीछे छोड़ दिया है. विश्व कप इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहा है. गावस्कर ने कहा कि यह कदम हैरानी भरा है लेकिन उन्होंने बेहतर विकेटकीपर के तौर पर कार्तिक का समर्थन किया.

गावस्कर ने कहा, ‘‘पंत की फॉर्म को देखते हुए यह थोड़ा हैरानी भरा है. वह सिर्फ आईपीएल में ही नहीं बल्कि इससे पहले भी काफी बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहा था. वह विकेटकीपिंग में भी काफी सुधार दिखा रहा था. वह शीर्ष छह में बायें हाथ का बल्लेबाजी विकल्प मुहैया कराता जो गेंदबाजों के खिलाफ काफी अच्छा होता. ’’उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजों को बायें हाथ के बल्लेबाजों के लिये अपनी लाइन एवं लेंथ में बदलाव करना पड़ता और कप्तान को मैदान में काफी इंतजाम करने होते. ’’

World Cup 2019: मुख्य चयनकर्ता ने कहा, 'ऋषभ पंत ने टीम में जगह बना ली थी, लेकिन...'
पंत ने इस मौजूदा आईपीएल में अभी तक 245 रन जबकि कार्तिक ने 111 रन बनाये हैं. गावस्कर ने हालांकि पंत की बल्लेबाजी फार्म की अनदेखी के फायदे भी बताते हुए कहा, ‘‘किसी दिन सुबह को अगर महेंद्र सिंह धोनी को फ्लू होता है और वह नहीं खेल पाता तो आप ऐसा खिलाड़ी चाहोगे जो बेहतर विकेटकीपर हो. मुझे लगता है कि कार्तिक को किसी और चीज से ज्यादा विकेटकीपिंग कौशल से ही टीम में जगह मिली. ’’

World Cup 2019: भारतीय टीम की घोषणा, पंत बाहर, विजय शंकर और कार्तिक को मौका

पूर्व सलामी बल्लेबाज संजय मांजरेकर भी गावस्कर की राय से इत्तेफाक रखते हैं कि कार्तिक का टीम में चुना जाने की उम्मीद कम थी. उन्होंने कहा, ‘‘टीम चयन से हर किसी को खुश रखना असंभव है लेकिन कार्तिक का टीम में चयन हैरानी भरा है. इस मामले में चयनकर्ता निरंतरता नहीं दिखाने के दोषी हैं. जनवरी 2019 में टीम से बाहर किये जाने के बाद सीधे विश्व कप टीम के लिये चुना जाना. ’’

जब दिनेश कार्तिक ने खेला था पहला वनडे, तब धोनी खेल रहे थे रणजी, पंत थे 7 साल के

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने कहा कि पंत को बाहर करने का फैसला अजीब सा है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘विश्व कप टीम में ऋषभ पंत नहीं....भारतीय चयनकर्ताओं का यह फैसला अजीबोगरीब है. ’’

गावस्कर ने कहा कि तमिलनाडु के आलराउंडर विजय शंकर की ‘त्रिआयामी विशेषताओं’ को देखते हुए वह टीम के लिये काफी उपयोगी खिलाड़ी होंगे. उन्होंने कहा, ‘‘वह ऐसा क्रिकेटर है जिसने पिछले एक साल में काफी सुधार किया है. उसके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हुई है. शंकर काफी उपयोगी क्रिकेटर भी है. वह काफी अच्छा बल्लेबाज है, उपयोगी गेंदबाज है और बेहतरीन क्षेत्ररक्षक है. ’’

World Cup 2019: 16 जून को भारत VS पाकिस्तान, जानिए टीम इंडिया के मैचों का पूरा शेड्यूल
पूर्व भारतीय बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने कहा कि पंत को केंद्रीय अनुबंध में शीर्ष वर्ग में शामिल किये जाने से उन्हें लगा था कि यह युवा खिलाड़ी भारत की विश्व कप टीम में जगह बना लेगा. उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘‘कुछ हफ्ते पहले पंत को केंद्रीय अनुबंधों में शीर्ष वर्ग में शामिल किया था. भारत ने चौथे स्थान के विकल्प के लिये शंकर को चुना है. लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि यह कारगर होगा या नहीं. डीके तभी खेलेगा जब धोनी उपलब्ध नहीं होंगे. कोई चौथा तेज गेंदबाज नहीं. दिलचस्प विकल्प. उम्मीद करते हैं कि यह कारगर होगा. गुडलक.’’

भारत की 2007 विश्व टी20 जीत के स्टार रहे पूर्व भारतीय क्रिकेटर आर पी सिंह ने कहा, ‘‘स्पष्ट रूप से टीम चयन में दिनेश कार्तिक के रूप में अनुभव और संयम को चुना गया है. मध्यक्रम देखना काफी दिलचस्प होगा जिसमें लोकेश राहुल और दिनेश कार्तिक चौथे नंबर पर हो सकते हैं. बाकी सब ठीक दिखता है. ’’

पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने व्यक्तिगत समस्याओं से जूझने के बाद शमी की वापसी पर कहा, ‘‘छह महीने पहले, मोहम्मद शमी सीमित ओवरों की क्रिकेट के लिये विचार किये जाने के करीब भी नहीं थे लेकिन कुछ शानदार प्रदर्शन ने सुनिश्चित किया कि वह अपना दूसरा विश्व कप खेलें. उन्होंने और जडेजा ने फिर से शानदार वापसी की. ’’