close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरविंद केजरीवाल बोले, 'कांग्रेस को वोट देने का मतलब है BJP को जिताना'

अरविंद केजरीवाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा,‘आपकों घर घर जाकर जनता को समझाना है कि कांग्रेस को वोट देने का मतलब बीजेपी को जिताना है .

अरविंद केजरीवाल बोले, 'कांग्रेस को वोट देने का मतलब है BJP को जिताना'
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आप के संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने पार्टी पदाधिकारियों से आगामी लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी सात सीटों पर बीजेपी को हराने का अपना दायित्व पूरा करने का आह्वान करते हुए उन्हें मतदाताओं को यह समझाने की जिम्मेदारी सौंपी है कि कांग्रेस को वोट से बीजेपी उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित होगी. 

केजरीवाल ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र के विधायकों और अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक का सिलसिला शुरू करते हुए शुक्रवार को कार्यकर्ताओं से कहा,‘आपकों घर घर जाकर जनता को समझाना है कि कांग्रेस को वोट देने का मतलब बीजेपी को जिताना है . उन्होंने इसकी वजह बताते हुए कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के पक्ष में 46 प्रतिशत, आप के पक्ष में 33 प्रतिशत और कांग्रेस के पक्ष में 15 प्रतिशत मतदान हुआ था. 

केजरीवाल ने कहा कि आगामी चुनाव के सर्वेक्षणों के मुताबिक इस बार बीजेपी के मत प्रतिशत में 10 प्रतिशत गिरावट का अनुमान है. इसके मद्देनजर उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्हें जनता को समझाना है कि अगर बीजेपी से नाराज 10 प्रतिशत मत कांग्रेस को जाता है तो कांग्रेस का मतप्रतिशत 25 फीसदी, आप का 33 फीसदी और बीजेपी 36 फीसदी पर आ जाएगा. इससे बीजेपी की एक बार फिर से जीत होगी. 

उन्होंने कहा कि यह 10 प्रतिशत मत आप को मिलने पर पार्टी का मत प्रतिशत 43 फीसदी होगा जिसका परिणाम दिल्ली कि सातों सीट पर आप की जीत के रूप में मिलेगा. केजरीवाल ने प्रत्येक लोकसभा सीट के प्रभारियों और अन्य पदाधिकारियों के माध्यम से आप की जीत का यह सूत्र घर घर पहुंचाने का अभियान शुरु किया है. 

उन्होंने दिल्ली सहित पूरे देश में मोदी सरकार के खिलाफ जनता में गुस्से का हवाला देते हुए पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि दिल्ली सरकार के जनहित के कामों को अबाध रूप से चलाने में केन्द्र सरकार की अड़चनों से मतदाता वाकिफ हैं. उन्हें आप के रूप में उचित विकल्प की जानकारी देकर कांग्रेस को वोट देने की भूल करने से बचाया जा सकता है.

(इनपुट - भाषा)