close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AAP ने लोकसभा चुनाव में BJP को हराने के लिए मुस्लिमों पर फेंका पासा, कहा- वोट बंटने मत दो

आम आदमी पार्टी पीएम मोदी को निशाना बनाकर मुस्लिम वोटर्स को लुभाने की कोशिश में जुटी है. 

AAP ने लोकसभा चुनाव में BJP को हराने के लिए मुस्लिमों पर फेंका पासा, कहा- वोट बंटने मत दो
लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राजनैतिक घमासान जारी है.

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राजनैतिक घमासान जारी है. अब आम आदमी विधायक और दिल्ली वक़्फ़ बोर्ड के अध्य्क्ष अमनातुल्ला खान ने सीएम केजरीवाल की मौजूदगी में मुसलमानों से कहा है, कि आप दिल्ली में आम आदमी पार्टी को वोट दे, बाद में केंद्र में अगर कांग्रेस की सरकार बनेगी तो हम उसको समर्थन दे देंगे. दिल्ली में वक़्फ़ बोर्ड के एक कार्यक्रम में हज़ारों मुसलमानों की मौजूदगी में अमनातुल्ला खान ने ये बात कही .  इस कार्यक्रम में दिल्ली के सीएम केजरीवाल के साथ साथ दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन और कई विधायक भी मौजूद थे.

इस कार्यक्रम में अमनातुल्ला खान मुसलमानों को वोटों के प्रतिशत का गणित भी समझाते नज़र आए, अमनातुल्ला खान ने कहा कि 2014 में लोकसभा चुनाव हो तो फिर 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव, आम आदमी पार्टी ने ही बीजेपी को टक्कर दी है कांग्रेस ने नहीं, इसलिए आम आदमी पार्टी को वोट दो. वोट को बंटने मत दो.

इस मौके पर अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा, और कहा कि वो मोदी को हराने के लिए किसी भी हद तक जा सकते है. केजरीवाल ने यहां तक कह दिया कि मोदी के अलावा वो किसी को भी पीएम पद के लिए समर्थन देने के लिए तैयार है.

दरअसल दिल्ली में वोटों के गणित को समझे तो मुस्लिम वोटर्स की तादाद कई सीटों पर फैसले को प्रभावित करती है, ऐसे में केजरीवाल और आम आदमी पार्टी पीएम मोदी को निशाना बनाकर मुस्लिम वोटर्स को लुभाने की कोशिश में जुटी है. पिछले दिनों ये ख़बर भी आई थी कि आम आदमी पार्टी -कांग्रेस के साथ दिल्ली में चुनाव मिलकर लड़ना चाहती है,

लेकिन बाद में बात नहीं बनी और आप ने अकेले चुनाव लड़ने का एलान कर दिया, लेकिन आम आदमी पार्टी इस बात को जानती है कि दिल्ली का मुस्लिम वोटर्स अगर कांग्रेस के पास वापस चला गया, तो उसको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है, और लोकसभा चुनाव के मद्देनजर ये बात साफतौर से वोटर्स समझ रहे है, कि देश में मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के बीच है, जिसका नुकसान दिल्ली में आम आदमी पार्टी को उठाना पड़ सकता है . 

आज अमनातुल्ला खान, और केजरीवाल के द्वारा दिए गए ये बयान भी उसी की तरफ इशारा कर रहा है. हालांकि वोटर इसे कैसे लेता है, ये आने वाले वक़्त में पता चलेगा.