पुलवामा हमला: भारत की कोशिशें लाई रंग, फ्रांस ने कहा- मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित कराएंगे

पुलवामा में हुए हमले के बाद अमेरिका ने भी पाकिस्तान से सख्त लहजे में कहा है कि वह मसूद अजहर को आतंकियों की लिस्ट में डालें.

पुलवामा हमला: भारत की कोशिशें लाई रंग, फ्रांस ने कहा- मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित कराएंगे
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को चौतरफा घेरने की कोशिश शुरू कर दी है. इसी कड़ी में भारत ने पाकिस्तान आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के लिए भी प्रयास शुरू कर दिए हैं. पुलवामा आतंकी हमले के बाद मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने की मांग उठ रही है. इस मामले में भारत को उस समय बड़ी राहत मिली जब मंगलवार को फ्रांस ने कहा, “अगले कुछ दिनों” में फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगवाने के लिए एक प्रस्ताव लाएगा.

फ्रांस के इस कदम को भारत के लिए बड़ी सफलता माना जा रहा है. संयुक्त राष्ट्र द्वारा निषिद्ध संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख अजहर ने हाल में पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी जिसमें 40 सीआरपीएफ कर्मी शहीद हो गए थे.  यह दूसरा मौका होगा जब फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में ऐसे किसी प्रस्ताव के लिए पक्ष बनेगा.

2017 में अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के समर्थन से संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति 1267 में एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन के प्रमुख पर प्रतिबंध की मांग की गई थी. इस प्रस्ताव पर चीन ने अड़ंगा लगा दिया था. एक वरिष्ठ फ्रांसीसी सूत्र ने बताया, “फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर को आतंकी सूची में डालने के लिये एक प्रस्ताव का नेतृत्व करेगा. यह अगले कुछ दिनों में होगा.” फ्रांसीसी सूत्रों ने को बताया कि फ्रांस के इस फैसले पर फ्रांस के राष्ट्रपति के कूटनीतिक सलाहकार फिलिप एतिन और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बीच आज सुबह चर्चा हुई.

इस दौरान हमले को लेकर अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए फ्रांसीसी कूटनीतिज्ञ ने इस बात पर भी जोर दिया कि दोनों देशों को अपने कूटनीतिक प्रयासों में समन्वय करना चाहिए.  पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड गाजी राशिद के खात्मे के बाद सारी दुनिया की निगाहें आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर टिकी हुई है.

पुलवामा में हुए हमले के बाद अमेरिका ने भी पाकिस्तान से सख्त लहजे में कहा है कि वह मसूद अजहर को आतंकियों की लिस्ट में डालें. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद जैश-ए-मोहम्मद को पहले ही आतंकवादी संगठन घोषित कर चुका है. ऐसे में वो लगातार पाकिस्तान पर दवाब बना रहा है कि वह अजहर को आतंकियों को लिस्ट में डालें.