पूरी दुनिया के सामने फिर शर्मसार हुआ पाकिस्तान, ये पोस्टर हो रहा वायरल

वैश्विक आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की दुनियाभर में किरकिरी हो रही है. पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों ने एक पोस्टर के जरिए यूएन से मांग की कि वो पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे.

पूरी दुनिया के सामने फिर शर्मसार हुआ पाकिस्तान, ये पोस्टर हो रहा वायरल
आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की दुनियाभर में किरकिरी

नई दिल्ली: वैश्विक आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान (Pakistan) की दुनियाभर में किरकिरी हो रही है. पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों ने एक पोस्टर के जरिए यूएन से मांग की कि वो पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे. जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 43वें सत्र में ब्रोकन चेयर स्मारक के पास पाकिस्तान की निंदा की गई. पोस्टर में कहा गया है कि पाकिस्तानी सेना अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद का केंद्र है.

इस पोस्टर में आरोप लगाया गया है कि पाकिस्तानी सेना द्वारा इंटरनेशनल टेररिस्ट ऑर्गनाइजेशन्स की अवैध मदद की जाती है. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि पाकिस्तान सरकार आतंकी गतिविधियों में सक्रिय है. पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के खराब होने के पीछे एक वजह ये भी है कि भारी मात्रा में धन को आतंकी गतिविधियों में लगाया जा रहा है.  

एक रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी, पाकिस्तान में आसानी से ऑपरेट और प्लान कर रहे हैं, उनके पास फंड की भी कमी नहीं है क्योंकि वहां सरकार कुछ नहीं कर रही है. कहा ये भी जा रहा है कि पाकिस्तानी सरकार इस समस्या का समाधान नहीं करना चाहती क्योंकि वह खुद अवैध गतिविधियों में शामिल है. इसलिए प्रदर्शनकारियों का कहना है कि यूएन इस पर कार्रवाई करे और पाकिस्तान पर तत्काल कार्रवाई करे.

बता दें कि इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के भारत दौरे पर भी पाकिस्तान का जिक्र हुआ था. ट्रंप ने कहा था, 'हर देश को हक है कि वो अपनी सीमाओं की सुरक्षा करे. अमेरिका- भारत ने यह फैसला लिया है कि मिलकर 'आतंकवाद' को रोकेंगे. इसीलिए अमेरिकी प्रशासन पाकिस्तान के साथ बेहद सकारात्मक तरीके से काम कर रहा है जिससे पाकिस्तानी सीमाओं से सक्रिय 'आतंकवादी' संगठनों और चरमपंथियों को नष्ट किया जा सके.''

ऐसा पहली बार नहीं है जब इंटरनेशनल लेवल पर पाकिस्तान की किरकिरी हुई है. इससे पहले भी कई बार आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की बदनामी हो चुकी है. भारत भी लगातार प्रयास कर रहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद के मुद्दे अलग-थलग हो. अब इस मुद्दे पर पाकिस्तान पर लगातार प्रेशर बढ़ रहा है.