close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुप्रीम कोर्ट में राकेश अस्थाना की नई नियुक्ति के खिलाफ याचिका

अस्थाना और तत्कालीन सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा के बीच विवाद के चलते विवादों में रहे हैं.

सुप्रीम कोर्ट में राकेश अस्थाना की नई नियुक्ति के खिलाफ याचिका
फाइल फोटो

नई दिल्लीः CBI के पूर्व अधिकारी राकेश अस्थाना को ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी का DG नियुक्त किये जाने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है. सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को दाखिल एक याचिका में कहा है कि अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच लंबित होने के बावजूद प्रमोशन दिया गया है. सर्वोच्च न्यायालय में ये याचिका एक वकील ने दाखिल की है. बता दें कि 17 जनवरी को केन्द्र ने सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना तथा तीन अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यकाल को तत्काल प्रभाव से कम कर दिया था.

लेकिन केंद्र सरकार ने CBI के विशेष निदेशक पद से हटाए जाने के एक दिन बाद 18 जनवरी को राकेश अस्थाना को सरकार ने सिविल एविएशन सिक्योरिटी ब्यूरो (बीसीएएस) का डीजी नियुक्त कर दिया था. एक सरकारी अधिसूचना के मुताबिक, नियुक्तियों संबंधी कैबिनेट समिति ने राकेश अस्थाना की इस पर नियुक्ति को मंजूरी दी थी. ऐसी भी खबरें सामने आई कि इस नियुक्ति के लिए इस पद को अस्थायी रूप से महानिदेशक स्तर का बनाया गया है.

अस्थाना की इस पद पर नियुक्ति 2 साल के लिए की गई है जो उनके कार्यभार संभालने के दिन से प्रभावी होगी. मालूम हो कि सीबीआइ के विशेष निदेशक पद पर रहते हुए भ्रष्टाचार के आरोपों का सामने कर रहे राकेश अस्थाना को सरकार ने 17 जनवरी को तत्काल प्रभाव से जांच एजेंसी से हटा दिया था. अस्थाना और तत्कालीन सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा के बीच विवाद के चलते सरकार ने पिछले साल 23 अक्टूबर को दोनों को जबरन छुट्टी पर भेज दिया था.

इससे कुछ दिन पहले, एजेंसी के तत्कालीन प्रमुख आलोक वर्मा को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत समिति ने सीबीआई से हटा दिया था. अस्थाना का वर्मा के साथ अभूतपूर्व टकराव हुआ था. उन्हें पिछले साल अक्टूबर में सरकार ने जबरन छुट्टी पर भेजा था.