close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

करौली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, इनामी डकैत समेत 3 को किया गिरफ्तार

पुलिस को मासलपुर के जंगलों में राम, लखन के होने की सूचना मिली तो सर्विलांस औक कोर्डिनेंस के आधार पर ट्रेस करते हुए फल्लू पुरा गुफा के पास पहुंचे, जहां चार व्यक्ति दिखाई दिए.

करौली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, इनामी डकैत समेत 3 को किया गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

करौली: राजस्थान की करौली पुलिस को जिले के सबसे बड़े इनामी डकैत और तीन सदस्यों को पकड़ने में सफलता मिली है. डकैत राम लखन गुर्जर पर 20 हजार और वचन गुर्जर पर 5 हजार का इनाम था. इनामी डकैतों के साथ गिरोह के दो अन्य सदस्य भी गिरफ्तार किए गए हैं. आरोपी से एक सेमी ऑटोमेटिक गन, एक 315 बोर बंदूक और 79 जिंदा और 32 खाली कारतूस बरामद किए गए हैं. राम लखन गुर्जर राज्य के 25 बड़े नामी डकैतों में शुमार है.

एसपी प्रीति चंद्रा ने बताया कि 10 जनवरी को मासलपुर के खनन ठेकेदार की पिटाई कर मूत्र पिलाने की अमानवीय घटना में वांछित मुख्य आरोपी राम लखन गुर्जर को गिरोह के तीन सदस्यों वचन, देशराज और लाखन के साथ मासलपुर के जंगलों से गिरफ्तार किया गया है. डकैत रामलखन पर करौली, धौलपुर, भरतपुर सहित एमपी और उत्तर प्रदेश में भी मुकदमे दर्ज है. आरोपी कई बार गुजरात जा चुका है.

गौरतलब है कि मासलपुर के जंगलों में डकैत राम लखन गुर्जर और सहयोगी श्रीनिवास गुर्जर और अन्य ने एलएनटी चालक हंसराम गुर्जर को बंदी बना मारपीट कर अमानवीय व्यवहार करते हुए मूत्र पिलाने और नाक में नकेल डाल कर प्रताड़ित करने का वीडियो 10 जनवरी 2019 को सोशल मीडिया पर वायरल किया था. जिसके बाद राम लखन गुर्जर अधिक चर्चा में आया. घटना के बाद पुलिस ने क्यूआरटी टीम गठित की.

आरोपी की तलाश में पुलिस ने यूपी, एमपी और गुजरात के कच्छ में भी कई जगहों पर डेरा डाला. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए फोन ट्रेस किया तो एक महिला से बार-बार संपर्क करने की जानकारी मिली. जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया. आरोपी के कब्जे से 79 जिंदा कारतूस, 32 खाली खोखा व मोबाइल फोन बरामद हुए है.

पुलिस को मासलपुर के जंगलों में राम, लखन के होने की सूचना मिली तो सर्विलांस औक कोर्डिनेंस के आधार पर ट्रेस करते हुए फल्लू पुरा गुफा के पास पहुंचे, जहां चार व्यक्ति दिखाई दिए. उनके पास पचफेरा जैसे हथियार थे. पुलिस टीम को देखकर बदमाश फायरिंग की पोजिशन में आ गए. महावीरजी थाना अधिकारी देवेंद्र शर्मा और क्यूआरटी टीम प्रभारी राजवीर और अन्य सदस्यों ने साहस का परिचय देते हुए डकैतों को धर दबोचा. बदमाशो ने पूछताछ में डकैत होना स्वीकार कर लिया. डकैत राम लखन पर हत्या का प्रयास, लूट, मारपीट, रंगदारी जैसे 25 और वचन गुर्जर पर 11 मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस डकैत से पूछताछ में जुटी है.