राजस्थान: आरक्षण की मांग में दूसरे दिन भी गुर्जर आंदोलन जारी, 7 ट्रेनों का रास्ता बदला

शनिवार को सवाई माधोपुर के मलार्ना डुंगर स्टेशन पर गुर्जरों द्वारा प्रदर्शन किए जाने के चलते 7 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया है.

राजस्थान: आरक्षण की मांग में दूसरे दिन भी गुर्जर आंदोलन जारी, 7 ट्रेनों का रास्ता बदला
गुर्जरों की मांग है कि उन्हें 50 फीसदी आरक्षण से बाहर 5 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए. (फोटो- ANI)

सवाई माधोपुर: राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार को गुर्जर समाज द्वारा प्रदेश सरकार को 4 बजे तक का वक्त दिया गया था. जिसके बाद मांग पूरी न होने के कारण गुर्जर शुक्रवार शाम से आंदोलन पर हैं. इसी कड़ी में शनिवार को सवाई माधोपुर के मलार्ना डुंगर स्टेशन पर गुर्जरों द्वारा प्रदर्शन किए जाने के चलते 7 ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया है.

वहीं 1 ट्रेन को कैंसिल और 3 को शोर्ट टर्मिनेट किया गया है. आपको बता दें, गुर्जर समुदाय के नेता किरोड़ी सिंह बैंसला नें सवाई माधोपुर में आरक्षण आंदोलन करते हुए शुक्रवार को कहा था, 'हम 5% आरक्षण चाहते हैं. सरकार ने मेरे अनुरोध का जवाब नहीं दिया. इसलिए, मैं एक आंदोलन करने जा रहा हूं. सरकार को आरक्षण देना चाहिए, मुझे नहीं पता कि वह कहां से देते हैं?

एएनआई के मुताबिक आंदोलन कर रहे गुर्जर समुदाय के लोगों का कहना है कि, 'हमारे पास अच्छे सीएम और एक अच्छे पीएम हैं. हम चाहते हैं कि वो गुर्जर समुदाय की मांगों को सुनें. उनके लिए आरक्षण प्रदान करना कोई कठिन काम नहीं है.'

बता दें कि आंदोलन की चेतावनी के बाद से ही रेलवे और जिला प्रशासन ने गुर्जर बाहुल्य जिलों में सुरक्षा बढ़ा दी थी. रेलवे ने आरपीएफ की कंपनी भेजना भी शुरू कर दिया था. दौसा, अजमेर, जयपुर हाईवे, आगरा हाईवे, करौली, भरतपुर, भीलवाड़ा, शेखावाटी इलाकों में आरपीएफ की कंपनियां भेजी जा रही थी. दूसरी ओर जिला प्रशासन भी पूरी तरह से संतर्क है.

गुर्जरों की मांग है कि उन्हें 50 फीसदी आरक्षण से बाहर 5 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए. जिसके कारण गुर्जर समाज आंदोलन पर है. गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने के बाद आरक्षण का दायरा 60 प्रतिशत हो गया है. जिस कारण अब गुर्जर भी सरकार से 50 फीसदी के बाहर आरक्षण देने की मांग कर रहे हैं.