close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

LoC पर गश्त कर रहे सेना के मेजर को सीने में उठा दर्द, इलाज के दौरान हुई मौत

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में मंगलवार को पुलिस ने लोक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत एक पूर्व आतंकवादी समेत तीन लोगों को हिरासत में ले लिया.

LoC पर गश्त कर रहे सेना के मेजर को सीने में उठा दर्द, इलाज के दौरान हुई मौत

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास गश्त के दौरान सेना के एक अधिकारी ने सीने में तेज दर्द की शिकायत के बाद मंगलवार को उनकी मृत्यु हो गयी. सेना के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘राष्ट्रीय राइफल्स के मेजर राहुल सिंह नियंत्रण रेखा के पास तैनात थे. उन्होंने सीने में तेज दर्द की शिकायत की थी और उपचार के दौरान दम तोड़ दिया.’’

अधिकारी ने बताया कि मंगलवार दोपहर कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास गश्त के दौरान सिंह ने सीने में तेज दर्द की शिकायत की. इस संबंध में आगे की जानकारी की प्रतीक्षा की जा रही है.

पीएसए के तहत पूर्व आतंकवादी समेत तीन हिरासत में
जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में मंगलवार को पुलिस ने लोक सुरक्षा अधिनियम (पीएसए) के तहत एक पूर्व आतंकवादी समेत तीन लोगों को हिरासत में ले लिया. पुलिस ने यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने बताया कि हरकत-उल-जिहाद-अल-इस्लामी (एचयूजेआई) के आतंकवादी के तौर पर आत्मसमर्पण कर चुके खुर्शीद अहमद लोन, हिज्बुल मुजाहिदीन के सक्रिय आतंकवादी एवं हवाला लेन-देन में कथित तौर पर लिप्त तनवीर अहमद गिन और मादक पदार्थ तस्कर फारुक अहमद को पीएसए के तहत हिरासत में लिया गया है.

यह भी पढ़ेंः जम्‍मू-कश्‍मीर: कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मार गिराया 1 आतंकी, एनकाउंटर जारी, इंटरनेट सेवाएं बंद

जन सुरक्षा अधिनियम : पीएसए: कुछ मामलों में आरोप या दो साल तक सुनवाई के बिना हिरासत में लिये जाने की अनुमति देता है. अधिकारी ने कहा, ‘‘आरोपियों को पीएसए के तहत हिरासत में लिया जाना इस समय जरूरी था क्योंकि वे जिले में शांतिपूर्ण माहौल के लिये खतरा बन रहे थे.’’ अधिकारी ने बताया कि सभी आरोपियों को जम्मू क्षेत्र की कठुआ जिला जेल में रखा गया है.