close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजब संयोग: एक ही क्‍लास में पढ़ने वाले दो दोस्‍त बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के जज

शायद सुप्रीम कोर्ट में इतिहास में ये पहली बार होगा कि चार दोस्‍त एक सा‍थ बतौर जज देश की सर्वोच्‍च न्‍यायालय में कार्य करेंगे.

अजब संयोग: एक ही क्‍लास में पढ़ने वाले दो दोस्‍त बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के जज
शनिवार को जस्टिस रवींद्र भट्ट और जस्टिस ऋषिकेश रॉय सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर शपथ लेने वाले हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: सुप्रीम कोर्ट में शनिवार को एक अजब संयोग देखने को मिलेगा, जब एक ही क्‍लास में पढ़ने वाले दो दोस्‍त बतौर जज शपथ लेंगे. जी हां, शनिवार को जस्टिस रवींद्र भट्ट और जस्टिस ऋषिकेश रॉय सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर शपथ लेने वाले हैं. उल्‍लेखनीय है कि जस्टिस रवींद्र भट्ट और जस्टिस ऋषिकेश रॉय ने 1982 में एक साथ कैंपस लॉ सेंटर से ग्रेजुएशन किया है. 

वहीं, यहां यह भी दिलचस्‍प है कि सुप्रीम कोर्ट में पहले से ही नियुक्त जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस संजय किशन कौल ने भी कैंपस लॉ सेंटर से 1982 में ही ग्रेजुएशन किया है. यानि सोमवार को जस्टिस रविन्द्र भट्ट और जस्टिस ऋषिकेश रॉय  के शपथ ग्रहण के साथ ही सुप्रीम कोर्ट में चार सहपाठी जज के तौर पर काम करना शुरू कर देंगे. 

LIVE TV...

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट में जजों की संख्या 31 से बढ़कर होगी 34, केंद्रीय कैबिनेट ने दी मंजूरी

शायद सुप्रीम कोर्ट में इतिहास में ये पहली बार होगा कि चार दोस्‍त एक सा‍थ बतौर जज देश की सर्वोच्‍च न्‍यायालय में कार्य करेंगे. इन चारों में से सबसे पहले, मई 2016 में जस्टिस डी वाई चन्दचूड़ सुप्रीम कोर्ट एलिवेट हुए थे, वे 2021 में देश के चीफ जस्टिस भी बनेंगे. इसके बाद जस्टिस संजय किशन कौल फरवरी 2017 में सुप्रीम कोर्ट में जज नियुक्त हुए. 

गुरुवार को राष्ट्रपति ने जस्टिस रविन्द्र भट्ट और जस्टिस ऋषिकेश राय की नियुक्ति को मंजूरी दे दी और वो सोमवार को शपथ लेंगे.