CAA के विरोध में सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस, शनिवार को दून में 'भारत बचाओ संविधान बचाओ' मार्च

देहरादून में होने वाले इस फ्लैग मार्च का नेतृत्व खुद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह करेंगे.  

CAA के विरोध में सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस, शनिवार को दून में 'भारत बचाओ संविधान बचाओ' मार्च
BJP ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस CAA को लेकर जनता को गुमराह कर रही है.

देहरादून: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ भले हिंसक प्रदर्शन खत्म हो गए हों. लेकिन इस पूरे मुद्दे पर अभी भी राजनीति गरमाई हुई है. उत्तराखंड (Uttarakhand) में शनिवार को CAA के विरोध में कांग्रेस ने एक मार्च बुलाया है. जिसे लेकर प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और सत्तारूढ़ दल बीजेपी आमने सामने आ गई हैं.

दरअसल, 28 दिसंबर यानि शनिवार को कांग्रेस 'भारत बचाओ संविधान बचाओ' मार्च निकालेगी. हाथ में तिरंगा लेकर कांग्रेसी सड़कों पर होंगे, देहरादून में होने वाले इस फ्लैग मार्च का नेतृत्व खुद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह (PCC Chief Pritam Singh) करेंगे. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस का ये फ्लैग मार्च देहरादून शहर के बीचों बीच होगा. कांग्रेस ने बताया कि ये मार्च केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ होगा और मुख्य मुद्दा नागरिकता संशोधन कानून रहेगा. इसके साथ-साथ कई अन्य मुद्दे भी होंगे.

कांग्रेस की रैली को लेकर बीजेपी हमलावर

शनिवार को होने वाली कांग्रेस की रैली को लेकर बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस CAA को लेकर जनता को गुमराह कर रही है. बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता वीरेंद्र बिष्ट ने देश में हुई हिंसा और नुकसान के लिए कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियों को जिम्मेदार ठहराया. बीजेपी ने कहा कि ये संभव नहीं कि एक हाथ में तिरंगा हो और दूसरी तरफ देश को कमजोर करने प्रयास हो. ये तिरंगे का अपमान है, जो तिरंगे को लेकर खुद को देश भक्त प्रदर्शित करने की कोशिश कर रहे हैं, जनता उन्हें पहचान चुकी है.