close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019 : अलका लांबा छोड़ सकती हैं 'AAP' का साथ, कांग्रेस ने दिया यह जवाब

आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा ने पार्टी का साथ छोड़कर शुक्रवार को फिर से कांग्रेस में शामिल होने के संकेत दिए.

लोकसभा चुनाव 2019 : अलका लांबा छोड़ सकती हैं 'AAP' का साथ, कांग्रेस ने दिया यह जवाब
लांबा ने फिर से कांग्रेस ज्वॉइन करने के सवाल पर कहा कि वह ऐसा चाहती तो हैं लेकिन फिलहाल उन्हें कोई प्रस्ताव नहीं मिला है...

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा ने लोकसभा चुनाव 2019 से पहले पार्टी का साथ छोड़कर शुक्रवार को फिर से कांग्रेस में शामिल होने के संकेत दिए. लांबा काफी अरसे से अपनी पार्टी से अलग-थलग हैं. लांबा ने इस संबंध में एक ट्वीट भी किया. उधर, कांग्रेस की ओर से भी प्रतिक्रिया आ गई है. कांग्रेस ने कहा है कि अगर लांबा कांग्रेस में फिर से वापस आना चाहती हैं तो उनका स्वागत है. 

लांबा के कांग्रेस में जाने की सुगबुगाहट उनके एक ट्वीट से हुई जिसमें उन्होंने लिखा, "5 साल पहले दिल्ली में BJP को हराने के लिए मैंने कांग्रेस का 20 साल पुराना साथ छोड़ा, बीजेपी हारी. आज जब देश में बीजेपी को हराने की बारी आई है तो 5 साल का साथ छोड़ना गलत कैसे. आज देख कर ख़ुशी हो रही है कि आप और मैं दोनों कांग्रेस के हाथ मजबूत करते हुए बीजेपी को हारता हुआ देखना चाहते हैं." 

शाम होते-होते कांग्रेस की ओर से भी प्रतिक्रिया आ गई. दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "हम उनका स्वागत करेंगे. वह एनएसयूआई की अध्यक्ष रही हैं. कई लोग हैं जिन्होंने कई मौकों पर पार्टी छोड़ दी, जब भी वे वापस आए, हमने उनका स्वागत किया." 

Alka lamba

इससे पहले, लांबा ने फिर से कांग्रेस ज्वॉइन करने के सवाल पर कहा कि वह ऐसा चाहती तो हैं लेकिन फिलहाल उन्हें कांग्रेस की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है. लांबा ने कहा, "मैंने अभी तक कांग्रेस की ओर से कोई प्रस्ताव तो प्राप्त नहीं किया है. मैंने अपने राजनीतिक जीवन के 25 वर्षों में से 20 वर्ष कांग्रेस को दिए हैं. जब कांग्रेस और बीजेपी के बीच दिल्ली में मुकाबला था तो लोगों ने बीजेपी को 15 साल तक सत्ता से दूर रखा. लोग एक बार फिर से बीजेपी को हराने का विकल्प तलाश रहे हैं."  

लांबा ने कहा, "मैंने देखा है कि कांग्रेस ने किस तरह से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बेहतर प्रदर्शन किया है. कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव में बेहतर कर सकती है. इसलिए, पार्टी को मजबूती देने के लिए हमें आगे आना चाहिए." 

यह पूछे जाने पर अगर कांग्रेस की ओर से फिर से प्रस्ताव मिला तो क्या वह उसमें शामिल होंगी, इस सवाल के जवाब में लांबा ने कहा, "कांग्रेस को निर्णय लेना है, बिना बुलाए मेहमान का कहीं भी स्वागत नहीं होता. अगर मुझे दोबारा कांग्रेस में जाने का मौका मिलता है तो मेरे लिए यह बड़े सम्मान की बात होगी. 

(इनपुट: ANI से)