close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019 : क्या बेगूसराय की लड़ाई जीत पाएंगे कन्हैया कुमार?

 कन्हैया कुमार ने जेएनयू से पीएचडी की है. इसी दौरान वह यहां छात्र संघ का चुनाव लड़े और जीते. कन्हैया कुमार पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज है. इस मामले में वह जेल भी जा चुके हैं.

लोकसभा चुनाव 2019 : क्या बेगूसराय की लड़ाई जीत पाएंगे कन्हैया कुमार?
बेगूसराय से सीपीआई के उम्मीदवार हैं कन्हैया कुमार. (फाइल फोटो- PTI)

पटना : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संगठन के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के टिकट पर बिहार के बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उनका मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कद्दावर नेता गिरिराज सिंह और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के तनवीर हसन से है. त्रिकोणीय लड़ाई होने से मुकाबला दिलचस्प हो गया है.

कन्हैया कुमार ने 2002 में छात्र राजनीति की शुरुआत की, जब उन्होंने पटना के कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला लिया. कन्हैया कुमार ने जेएनयू से पीएचडी की है. इसी दौरान वह यहां छात्र संघ का चुनाव लड़े और जीते. कन्हैया कुमार पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज है. इस मामले में वह जेल भी जा चुके हैं.

बेगूसराय में कुल 19 लाख 53 हजार 7 मतदाता हैं. जिसमें पुरुष मतदाता 1038983, महिला मतदाता 9 लाख तेरह हजार 962 हैं. अगर जातिगत मतदाताओं की बात करें तो यहां सबसे अधिक भूमिहार मतदाताओं की संख्या है. भूमिहार के बाद इस क्षेत्र में सबसे अधिक मुस्लिम मतदाताओं की संख्या है.

बेगूसराय लोकसभा सीट में सात विधानसभा क्षेत्र आते हैं. 2014 में बीजेपी से भोला सिंह, आरजेडी से तनवीर हसन, सीपीआई से राजेंद्र प्रसाद सिंह उम्मीदवार थे. भोला सिंह को जहां 4,28,227 वोट मिले थे तो वहीं आरजेडी के तनवीर हसन को 3,69,892 वोट मिले थे.