close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: मंत्रीजी की ऐसी 'तुकबंदी', जिसे सुनकर PM मोदी, सोनिया, राहुल हंसते-हंसते लोटपोट हो गए

केंद्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता राज्‍य मंत्री रामदास आठवले, बीजेपी सांसद ओम बिड़ला को जब बधाई देने के लिए लोकसभा में उठे तो उनके भाषण के हर शब्‍द पर प्रधानमंत्री मोदी समेत पूरा सत्‍तापक्ष और विपक्ष ठहाका लगाकर हंस पड़ा.

VIDEO: मंत्रीजी की ऐसी 'तुकबंदी', जिसे सुनकर PM मोदी, सोनिया, राहुल हंसते-हंसते लोटपोट हो गए

नई दिल्‍ली: केंद्रीय सामाजिक न्‍याय और अधिकारिता राज्‍य मंत्री रामदास आठवले, बीजेपी सांसद ओम बिरला के लोकसभा का स्‍पीकर चुने जाने के बाद जब बधाई देने के लिए लोकसभा में उठे तो उनके भाषण के हर शब्‍द पर प्रधानमंत्री मोदी समेत पूरा सत्‍तापक्ष और विपक्ष ठहाका लगाकर हंस पड़ा. दरअसल आठवले ने अपने भाषण को 'तुकबंदी' के रूप में शुरू किया और कहा कि भले ही लोकसभा में उनकी रिपब्लिकन पार्टी (ए) का कोई सांसद चुनकर नहीं आया है लेकिन वह दल की तरफ से ओम बिड़ला को बधाई देते हैं. आठवले राज्‍यसभा सांसद हैं.

संसद के संयुक्‍त सत्र में उन्‍होंने तुकबंदी के जरिये पीएम मोदी को विशाल हृदय का नेता बताते हुए कहा कि ओम बिरला भले ही स्‍वभाव से गंभीर दिखते हों और कम हंसते हों लेकिन वह अपने भाषणों से उनको हंसाते रहेंगे. इस बीच उन्‍होंने भाषण के दौरान विपक्ष पर भी तंज कसा. पहले उन्‍होंने पूछा कि क्‍या आज राहुल गांधी का जन्‍मदिन है? जब इसका जवाब हां मिला तो उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष से कहा कि आपने चुनाव में बहुत कोशिश की लेकिन आपको इस बात की बधाई कि आप विपक्ष में बैठे हैं. इसके साथ ही कहा कि चुनाव से पहले विपक्ष ने मुझसे कहा कि आप एनडीए छोड़कर हमारे पास आ जाओ लेकिन मैंने हवा का रुख पहले ही भांप लिया था. लिहाजा मैंने पूछा कि इससे क्‍या होगा?

राम मंदिर मुद्दे पर सभी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए: रामदास अठावले

इसके साथ ही विपक्ष से कहा कि हमारी सरकार अगले पांच साल तक अच्‍छे से चलेगी. उसके बाद फिर से हम चुने जाएंगे और इस तरह अच्‍छा काम करते हुए बार-बार जीतकर सत्‍ता में आते रहेंगे. हालांकि विपक्ष पर चुटकी लेते हुए यह भी कहा कि यदि इस बीच आपने सत्‍ता में आने की कोशिश भी की तो भी हम आपको आने नहीं देंगे. उनके तुकबंदी भरे इस तरह के भाषण को सुनकर पूरे सदन में ठहाके गूंजते देखे गए. यहां तक कि पीएम मोदी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी भी खुद को नहीं रोक सके और हंसते-मुस्‍कुराते रहे.

रामदास अठावले ने की केसीआर और जगनमोहन रेड्डी से NDA में शामिल होने की अपील

ओम बिरला चुने गए स्‍पीकर
इस बीच लोकसभा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष ओम बिरला ने अपने पहले संबोधन में कहा है कि वह संसद में हर छोटे-बड़े दल की आवाज को उचित मौका देने की पूरी कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा कि वे निष्पक्षता के साथ सदन चलाएंगे और कम संख्या वाले दलों को भी पर्याप्त समय दिया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार से ज्यादा जवाबदेही और पारदर्शिता की अपेक्षा है.

ओम बिड़ला लोकसभा स्‍पीकर चुने गए, पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दिया था प्रस्‍ताव

'मैं निष्पक्षता दिखाऊंगा'
पदभार ग्रहण करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मंत्रिपरिषद के सदस्यों और सभी राजनीतिक दलों का आभार व्यक्त करते हुए बिरला ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष की कुर्सी निष्पक्ष होनी चाहिए और निष्पक्ष दिखनी भी चाहिए. उन्होंने कहा कि लोकसभा के निर्वाचित सदस्यों के लिए चुनौती यह होती है कि उनसे जनता की अपेक्षाएं बहुत होती हैं और सदस्य ज्यादा से ज्यादा अपनी बात रखने की कोशिश करते हैं.

रामदास अठावले ने की केसीआर और जगनमोहन रेड्डी से NDA में शामिल होने की अपील

'सदस्यों से विनती है कि वे सरकार से जुड़े मुद्दे ही उठाएं'
बिरला ने सदस्यों से कहा कि वे केंद्र सरकार से जुड़े मुद्दे विशेषकर बुनियादी मुद्दे उठाएं क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि सदस्य ऐसे मुद्दे उठाते हैं जिनका केंद्र सरकार से कोई संबंध नहीं होता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जनता ने इस बार फिर विश्चास जताया है और ऐसे में इस सरकार की जवाबदेही बढ़ जाती है.

'माननीय सांसद दुनिया में मिसाल पेश करें'
स्पीकर ने कहा कि सरकार से ज्यादा जवाबदेही और पारदर्शिता के अपेक्षा है तथा यह आशा भी की जाती है कि सदस्यों की बातों का जवाब दिया जाए. उन्होंने कहा कि कम संख्या वाली पार्टियों को भी सदन में अपनी बात रखने का पूरा समय मिलेगा. बिरला ने कहा कि सदस्य अपने आचार-व्यवहार से दुनिया में मिसाल पेश करें.

कोटा से सांसद हैं नए स्पीकर
गौरतलब है कि राजस्थान के कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र से लगातार दूसरी बार बीजेपी के सांसद निर्वाचित हुए बिरला को बुधवार को सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुन लिया गया. लोकसभा अध्यक्ष के रूप में बिरला, आठ बार सांसद रहीं सुमित्रा महाजन के उत्तराधिकारी बने हैं. इस पद पर अक्सर वरिष्ठ सदस्यों के चुने जाने की परंपरा के उलट लोकसभा अध्यक्ष बनने वाले बिरला (56) तुलनात्मक रूप से नये सदस्य हैं.

प्रोटेम स्पीकर ने की घोषणा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से रखे गये और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की ओर से अनुमोदित प्रस्ताव को सदन की ओर से ध्वनिमत से स्वीकार किये जाने के बाद कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार ने बिरला के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचन की घोषणा की. इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी और सदन में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी समेत अन्य दलों के नेता बिरला को अध्यक्ष के आसन तक लेकर गये. सदन में मौजूद सदस्यों ताली बजाकर और मेजें थपथपाकर नये अध्यक्ष का अभिनंदन किया.

बिरला को अध्यक्ष के आसन तक ले जाने वालों में द्रमुक के टी आर बालू, तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय, बीजद के पिनाकी मिश्रा और लोजपा के चिराग पासवान आदि भी शामिल थे. इस मौके पर विशेष दर्शक दीर्घा में बिरला के परिवार के सदस्य मौजूद थे.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)