भूख से तड़प-तड़प कर मर गई व्हेल, पेट से निकला 40 किलो प्लास्टिक

मछली के शरीर के अंदर से 40 किलो प्लास्टिक और बोरियां बरामद की गई हैं, जिसके चलते मछली की हालत बिगड़ गई और गैस्ट्रिक अटैक से उसकी मौत हो गई.

भूख से तड़प-तड़प कर मर गई व्हेल, पेट से निकला 40 किलो प्लास्टिक
मछली की आंतों से चिपक गया था प्लास्टिक

नई दिल्लीः प्लास्टिक और इससे बनी चीजें कितनी खतरनाक हो सकती हैं, इसका उदाहरण तब देखने को मिला जब फिलीपींस में समुद्र किनारे मृत मिली एक व्हेल के शरीर के अंदर से 40 किलो प्लास्टिक निकाला गया. मछली के पेट से इतनी बड़ी मात्रा में निकले प्लास्टिक को देखकर हर कोई हैरान रह गया. वहीं मछली को पहली बार देखने वाले डीबोन कलेक्टर म्यूजियम की टीम का कहना है कि मछली की मौत भूख और प्लास्टिक के चलते हुई है. मछली के शरीर के अंदर से 40 किलो प्लास्टिक और बोरियां बरामद की गई हैं, जिसके चलते मछली की हालत बिगड़ गई और गैस्ट्रिक अटैक से उसकी मौत हो गई.

न्यूजीलैंड हमलाः मस्जिद के बाहर गार्ड बनकर खड़ा हुआ ब्रिटेन का यह शख्स, लिखा- आप मेरे दोस्त हैं

वहीं फेसबुक पर पूरी घटना की जानकारी देते हुए म्यूजियम की टीम का कहना है कि सरकार को उन सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जो प्लास्टिक का इस्तेमाल करते हैं और उसके बाद उसे राह चलते फेंक देते हैं. संग्रहालय के संस्थापक डारेल ब्लेचली ने बाद में सीएनएन को बताया कि वह यह देखकर हैरान रह गए कि मरी हुई व्हेल के भीतर से क्या निकला था. "मैं प्लास्टिक की इतनी मात्रा के लिए तैयार नहीं था. यह इतना ज्यादा था, कि इसकी वजह से मछली कुछ खा भी नहीं पा रही थी."

36 इंच के दूल्हे को मिली अपने साइज की दुल्हन, जमकर नाचे बाराती

अटॉप्सी के बाद सामने आई तस्वीरों को देखकर हर कोई हैरान है कि कैसे एक मछली इतना प्लास्टिक खा सकती है. म्यूजियम की टीम का कहना है कि पहली बार किसी मछली के पेट से इतनी मात्रा में प्लास्टिक निकला है. प्लास्टिक मछली के पेट में आंतो से चिपक गया था, जिससे वह कुछ खा नहीं पा रही थी. आंतों में प्लास्टिक चिपक जाने से गैस्ट्रिक अटैक से उसकी मौत हो गई. यह घटना बेहद दुखी और घृणित करने वाली है.

Video: ऑस्ट्रे्लियाई सीनेटर ने की मुस्लिमों के खिलाफ टिप्पणी, तो किशोर ने फोड़ दिया सिर पर अंडा

म्यूजियम के अधिकारियों का कहना है कि प्लास्टिक खाने और खाना न खा पाने से व्हेल इतनी कमजोर हो गई थी कि वह तैर भी नहीं पा रही थी. उन्होंने बताया कि पिछले 10 सालों में हमने 61 से ज्यादा डॉल्फिन और व्हेल का पोस्टमार्टम किया, लेकिन इतनी ज्यादा मात्रा में किसी भी मछली के अंदर प्लास्टिक नहीं मिला. यह पहली बार है जब हमें किसी मछली के पेट के अंदर से इतना ज्यादा प्लास्टिक मिला है.