close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय सीमा में घुस आया था पाकिस्तानी लड़ाकू विमान F-16, वायुसेना ने किया ढेर

भारतीय वायुसेना ने जम्मू कश्मीर के नौशेरा में पाकिस्तानी लडाकू विमान एफ-16 को मार गिराया है. 

भारतीय सीमा में घुस आया था पाकिस्तानी लड़ाकू विमान F-16, वायुसेना ने किया ढेर

श्रीनगरः भारतीय वायुसेना ने जम्मू कश्मीर के नौशेरा में पाकिस्तानी लडाकू विमान एफ-16 को मार गिराया है. नौशेरा के लाम सेक्टर में भारत ने पाक विमान को निशाना बनाया. जिस विमान को भारत ने उड़ाया है उसमें से पैराशूट से पायलट को नीचे कूदते हुए देखा गया है. इससे पहले खबर आई थी कि पाकिस्तानी जेटों ने भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था. पाक विमानों ने जम्‍मू-कश्‍मीर के राजौरी जिले में नौशेरा सेक्टर के सीमावर्ती क्षेत्रों में प्रवेश किया था. हालांकि पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि इस ऑपरेशन में एफ-16 विमान का इस्तेमाल ही नहीं किया है.

भारतीय वायुसेना हाईअलर्ट पर है. वायुसेना को पाकिस्‍तानी हरकत को देखते ही बमबारी करने के आदेश दिए गए हैं. भारत के सभी फॉरवर्ड एयरबेस को अलर्ट पर रखा गया है.

हालांकि भारतीय वायुसेना की तरफ अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की है. भीमबर गली और लाम में तीन पाकिस्‍तानी जेट ने सीमा क्षेत्र का उल्‍लंघन किया है. हालांकि भारतीय विमानों ने पाकिस्‍तान के विमानों को वापस खदेड़ दिया. उधर, सुरक्षा के लिहाज से श्रीनगर हवाई अड्डे पर आम हवाई सेवाएं रोक दी गई हैं. श्रीनगर एयरपोर्ट से अगले आदेश तक सभी सेवाएं बंद रखने के आदेश जारी किए गए हैं. कमर्शियल विमानों को श्रीनगर से डायवर्ट कर दिया गया है.

अपुष्‍ट खबर है कि घुसपैठ के बाद भागते हुए पाकिस्‍तानी विमानों ने कुछ बम भी गिराए हैं. हालांकि अभी जान-माल के किसी नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है. इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्‍यक्षता में एक हाईलेवल बैठक चल रही है, जिसमें एनएसए अजीत डोभाल, गृह सचिव अनिल गौबा, रॉ और आईबी के प्रमुख भी शामिल हैं.

वहीं, पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट कर कहा कि 'MoFA द्वारा जारी आदेश के बाद आज सुबह पाकिस्‍तानी एयरफोर्स हमलों के जवाब में भारतीय वायुसेना के विमानों ने LoC को पार कर लिया. पीएएफ ने पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र के अंदर दो भारतीय विमानों को मार गिराया. विमान में से एक पीओके के अंदर गिरा, जबकि दूसरा भारतीय कश्‍मीर क्षेत्र के अंदर गिरा. इसके बाद पीओके में गिरे एक भारतीय विमान के पायलट को हमने गिरफ्तार किया'.

राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान में आतंकी शिविर पर हवाई हमले के बाद सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान में आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर पर भारतीय लड़ाकू विमानों के बम गिराने के एक दिन बाद बुधवार को देश में विशेषकर पाकिस्तान के साथ लगती सीमा की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की. बैठक के दौरान देश में सुरक्षा स्थिति और सभी संवेदनशील जगहों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के के बारे में एक विस्तृत ब्योरा दिया गया. बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित अन्य लोग उपस्थित थे.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि सिंह ने अधिकारियों को भारत-पाकिस्तान सीमा की निगरानी कर रहे सीमा सुरक्षाबल को उच्चतम स्तर तक की सतर्कता सुनिश्चित करने को कहा, ताकि सीमा पार से किसी भी दुस्साहस को नाकाम किया जा सके. बैठक में उपस्थित रहने वालों में केन्द्रीय गृह सचिव राजीब गाबा और खुफिया ब्यूरो के निदेशक राजीव जैन शामिल हैं.

अधिकारियों ने बताया कि भारत ने मंगलवार को पौ फटने से पहले बड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को तबाह कर दिया जिसमें लगभग 350 आतंकवादी और उनके प्रशिक्षक मारे गए. पाकिस्तान ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद इन आतंकवादियों को उनकी सुरक्षा के लिए इस शिविर में भेजा था. भारतीय वायुसेना का यह हमला अत्यंत त्वरित और सटीक था.

सूत्रों ने बताया कि वर्ष 1971 के युद्ध के बाद भारतीय वायुसेना पहली बार पाकिस्तान में दाखिल हुई . विदेश सचिव ने यहां संवाददाताओं को बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के बालाकोट में मौजूद सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर खुफिया सूचनाओं के बाद की गई यह कार्रवाई जरूरी थी क्योंकि आतंकी संगठन भारत में और आत्मघाती हमले करने की साजिश रच रहा था. गौरतलब है कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले में 40 जवान शहीद हो गये थे. जैश ए मोहम्मद ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी.

(इनपुट भाषा)