फुटबॉल: प्रफुल्ल पटेल बने फीफा काउंसिल के पहले भारतीय सदस्य

प्रफुल्ल पटेल को मलेशिया में 29वीं एशियन फुटबॉल कनफेडरेशन (एएफसी) कांग्रेस की बैठक में काउंसिल का सदस्य चुना गया. 

फुटबॉल: प्रफुल्ल पटेल बने फीफा काउंसिल के पहले भारतीय सदस्य
महाराष्ट्र के प्रफुल्ल पटेल केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं. (फोटो: IANS)

क्वालालंपुर: भारत के प्रफुल्ल पटेल को शनिवार को फुटबॉल की शीर्ष संस्था फीफा काउंसिल के सदस्य के रूप में चुना गया है. वे इस पद पर चुने जाने वाले पहले भारतीय हैं. अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) के अध्यक्ष पटेल को 46 में से 38 वोट हासिल किए. प्रफुल्ल पटेल को मलेशिया के क्वालालंपुर में आयोजित 29वीं एशियन फुटबॉल कनफेडरेशन (एएफसी) कांग्रेस की बैठक के दौरान सदस्य के रूप में चुना गया. 

एफसी की बैठक में पटेल सहित कुल पांच उम्मीदवारों को चुना गया. इसके अलावा एएफसी अध्यक्ष और एक महिला सदस्य को चुना गया. इनका कार्यकाल 2019-2023 तक के लिए है. प्रफुल्ल पटेल ने इस पद पर चुने जाने के बाद कहा, ‘मैं एएफसी के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त करता हूं जिन्होंने मुझे इस पद के लिए उपयुक्त समझा. फीफा काउंसिल के सदस्य के रूप में जिम्मेदारी बहुत बड़ी है. मैं न केवल अपने देश का बल्कि पूरे महाद्वीप का प्रतिनिधित्व करूंगा. एशिया में फुटबाल की प्रगति पर अपना विश्वास दिखाने के लिए आपका धन्यवाद करता हूं.’ 

यह भी पढ़ें: IPL-12: वो एक बॉल, जिसके कारण बॉलिंग से हटाए गए सिराज और रसेल ने पलट दी बाजी

एआईएफएफ के महासचिव कुशल दास ने भी पटेल को बधाई देते हुए कहा, ‘हम एआईएफएफ पर बहुत गर्व करते हैं. यह भारत की फुटबाल बिरादरी के लिए एक बड़ा कदम है. इस नई भूमिका के लिए आपको शुभकामनाएं.’ पटेल के नेतृत्व में ही एआईएफएफ को मनीला में 2014 में एएफसी वार्षिक पुरस्कारों में जमीनी स्तर पर फुटबाल को बढ़वा देने के लिए 'एएफसी के प्रेसिडेंशियल एवार्ड' से सम्मानित किया गया था. इसके बाद 2016 में एएफसी ने एआईएफएफ को सर्वश्रेष्ठ विकासशील सदस्य संघ के लिए पुरस्कार प्रदान किया था. 

प्रफुल्ल पटेल के नेतृत्व में भारत ने फीफा अंडर-17 विश्व कप की सफल मेजबानी की, जिसकी काफी प्रशंसा हुई. इसके बाद भारत ने 2020 में फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी करने के लिए दावेदारी हासिल की है. एआईएफएफ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुब्रत दत्ता ने पटेल को बधाई देते हुए कहा, ‘पटेल की जीत भारतीय फुटबाल के लिए मील का पत्थर है. पटेल को बधाई और वह इस सम्मान के पूरी तरह से हकदार हैं. एशियाई फुटबॉल को फीफा परिषद के सदस्य के रूप में उनकी उपस्थिति से काफी फायदा होगा.’ 

(आईएएनएस)