close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs WI: ऋषभ पंत ने एमएस धोनी को छोड़ा पीछे, बनाया यह रिकॉर्ड

पिछले कई दिनों से अपनी बल्लेबाजी को लेकर आलोचना का शिकार हो रहे ऋषभ पंत ने विकेटकीपिंग में एक खास रिकॉर्ड में एमएस धोनी को पीछे छो़ड़ दिया है. 

IND vs WI: ऋषभ पंत ने एमएस धोनी को छोड़ा पीछे, बनाया यह रिकॉर्ड
ऋषभ पंत ने 11 टेस्ट मैचो में दो शतक लगाए हैं. (फोटो:PTI)

किंग्सटन (जमैका): भारत और वेस्टइंडीज (India vs West Indies) के बीच चल रही टेस्ट सीरीज खत्म होने को है और टीम इंडिया दूसरा टेस्ट मैच जीतने के करीब है. टीम इंडिया के इस दौरे पर एक बार फिर ऋषभ पंत चर्चा में रहे और इस बार भी चर्चा की वजह उनका बल्लेबाजी में उम्मीद के मुताबिक न चलना रहा. टीम इंडिया में लंबे समय से एमएस धोनी ने शानदार विकेटकीपिंग करने के साथ बेहतरीन बल्लेबाजी भी की, लेकिन उनकी जगह लेना पंत के लिए आसान नहीं है, लेकिन पंत ने वेस्टइंडीज दौरे पर धोनी का ही एक रिकॉर्ड तोड़ दिया है.

पंत टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से 50 कैच लेने वाले भारतीय विकेटकीपर हो गए हैं. जमैका टेस्ट की दूसरी पारी में जब पंत ने क्रैग ब्रेथवेट का कैच पकड़ा वे धोनी को पीछे छोड़कर भारत के सबसे तेजी से 50 कैच लेने वाले विकेटकीपर बन गए. पंत ने 11 टेस्ट मैचों में 50 कैच पकड़े जबकि धोनी को 50 कैच पकड़ने में 15 टेस्ट लगे थे. मैच में टीम इंडिया की स्थिति बहुत ही मजबूत हो गई है और वह टेस्ट सीरीज क्लीन स्वीप करने के करीब पहुंच गई है.

यह भी पढ़ें: IND vs WI: बुमराह ने खोला वेस्टइंडीज में अपनी सफलता का राज, इस अनुभव से मिला फायदा 

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 468 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज ने दो विकेट खोकर 45 रन बना लिए थे. क्रीज पर डैरेन ब्रावो और शमराह ब्रूक्स मौजूद हैं. फिलहाल वेस्टइंडीज लक्ष्य से 423 रन पीछे है और दो दिन के खेल में वह यह लक्ष्य हासिल करले मुश्किल ही है. वहीं टीम इंडिया इस समय जीत से केवल 8 विकेट दूर है. पहली पारी के प्रदर्शन को देखते हुए लग रहा है कि टीम इंडिया यह मैच जीत लेगी. पंत ने इस मैच में कुल तीन कैच पकड़े हैं. जबकि पहले टेस्ट में उन्होंने पांच कैच लिए थे. 

पंत पिछले कुछ समय से अपनी विकेटकीपिंग में तो सुधार कर रहे है, लेकिन वे बल्लेबाजी के मामले में आलोचकों के निशाने पर हैं. पंत की आलोचना उनके आउट होने के तरीके पर ज्यादा हो रही है. पंत ने पहले टेस्ट में 24 और 7 रन बनाए थे. जबकि दूसरे टेस्ट में वे पहली पारी में 27 रन ही बना सके थे. पंत की हमेशा ही धोनी से तुलना की जाती है. क्रिकेटीय समझ से वे अभी धोनी से बहुत ही ज्यादा पीछे हैं. कई लोगों का मानना है कि 21 के साल के पंत की धोनी से तुलना उचित नहीं है और इससे उनपर बेवजह दबाव पड़ता है.