बीसीसीआई के कदमों पर चला PCB, इस दिग्गज खिलाड़ी को बनाया अंडर 19 टीम का कोच

पीसीबी प्रमुख एहसान मनी ने कहा था कि पीसीबी को बीसीसीआई का अनुकरण करते हुए किसी पूर्व खिलाड़ी को देश के युवा क्रिकेटरों की कमान सौपनी चाहिए.

बीसीसीआई के कदमों पर चला PCB, इस दिग्गज खिलाड़ी को बनाया अंडर 19 टीम का कोच
पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास के सफल खिलाड़ियों में यूनिस खान का नाम शुमार है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड की नकल करते हुए पूर्व क्रिकेटर यूनिस खान को अंडर 19 क्रिकेट टीम का कोच बनाया है. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सूत्रों ने बताया कि यूनिस पाकिस्तान की अंडर 19 क्रिकेट टीम के मुख्य कोच बनेंगे. फिलहाल अभी इस बात की कोई ऑफिशियल घोषणा नहीं की गई है. कुछ औपचारिकताओं के बाद इस बात की घोषणा की जाएगी. बता दें कि यूनिस खान ने पिछले वर्ष क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. यूनिस खान ने टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाए हैं.  पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास के सफल खिलाड़ियों में यूनिस खान का नाम शुमार है. 

भारत के अंडर 19 कोच राहुल द्रविड़ का उदाहरण देते हुए हाल ही में कुछ समय पहले पीसीबी प्रमुख एहसान मनी ने कहा था कि पीसीबी को बीसीसीआई का अनुकरण करते हुए किसी पूर्व खिलाड़ी को देश के युवा क्रिकेटरों की कमान सौपनी चाहिए. मिली जानकारी के अनुसार यूनिस खान को मुख्य कोच होने के नाते पूरे अधिकार दिए जाएंगे. यूनिस अंडर 19 चयन समिति के मुख्य चयनकर्ता होंगे और एक अन्य टेस्ट क्रिकेटर उनकी सहायता करेंगे. यूनिस खान ने अपने क्रिकेट करियर में 118 टेस्ट मैच और 265 वनडे मैच खेले हैं.

IPL 2019 से पहले सुरेश रैना ने खेली आतिशी पारी, महज इतनी गेंदों में ठोक डाले 56 रन

पीसीबी अध्यक्ष एहसान मनी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने रोडेन मार्श, एलेन बॉडर और रिकी पोटिंग जैसे दिग्गज खिलाड़ियों की सेवा अपनी जूनियर टीम के लिया है. उन्होंने ने कहा कि यहां तक भारत ने भी अंडर 19 की कमान पूर्व खिलाड़ी राहुल द्रविड़ को कोच बनाया है फिर हम क्यूं नहीं ऐसा करते. एहसान ने कहा कि हमें इन सब उदाहरण से सीख लेना चाहिए.

अपने ही खोदे गड्ढे में गिरा पाकिस्तान, कंगाली की हालत में PCB ने BCCI को दिए इतने करोड़...

आपको बता दें राहुल द्रविड़ के कोच रहते हुए भारतीय अंडर 19 टीम ने पिछले साल विश्व कप जीता था. पाकिस्तान बोर्ड ने कहा कि दुनिया में ऐसे बहुत से उदाहरण हैं जिनमें पूर्व खिलाड़ियों ने अपनी जूनियर टीम को एक नई दिशा देकर टीम को नई ऊंचाइयों में पहुचाया है.