गौतम गंभीर को पद्म श्री और बछेन्द्री पाल को पद्म भूषण सहित खेल की इन हस्तियों को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

भारतीय तीरंदाज खिलाड़ी बोम्बायला देवी लैशराम को भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्म श्री से सम्मानित किया. बोम्बायला ने 2016 में ग्रीष्मकाल ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया था.

गौतम गंभीर को पद्म श्री और बछेन्द्री पाल को पद्म भूषण सहित खेल की इन हस्तियों को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित
गौतम गंभीर को जहां पद्म श्री से सम्मानित किया गया वहीं जानी मानी पर्वातारोही बछेंद्री पाल को तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. (फोटो साभार : ANI)

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर को आज राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने पद्म श्री से सम्मानित किया. जिस समय गौतम को सम्मानित किया जा रहा था उस समय गंभीर की माता सीमा गंभीर, पिता दीपक गंभीर और पत्नी नताशा गंभीर भी मौजूद रहीं. 2007 टी 20 वर्ल्ड कप और 2011 एकदीवसीय वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे गंभीर ने इसे अपनी जिंदगी का एक महत्वपूर्ण पल बताया. आपको बता दें कि गौतम गंभीर ने 2018 में ही  इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. ऐसा माना जा रहा है कि क्रिकेट से दूर होने के बाद गंभीर राजनीति में नई पारी खेल सकते हैं.

IPL 2019: रेस्टोरेंट में ब्रेकफास्ट करते नजर आए धोनी, भज्जी ने भी शूट कराया ये फोटो

गौतम गंभीर को जहां पद्म श्री से सम्मानित किया गया वहीं जानी मानी पर्वातारोही बछेंद्री पाल को तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. बता दें कि सम्मानित किए गए सभी लोगों के नामों की घोषणा जनवरी में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की गई थी. भारतीय तीरंदाज खिलाड़ी बोम्बायला देवी लैशराम को भी राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने पद्म श्री से सम्मानित किया. बोम्बायला ने 2016 में ग्रीष्मकाल ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. बोम्बायला मूल रूप से मणिपुर की रहने वाली हैं.

वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देगा कभी रन आउट न होने वाला यह स्टार बल्लेबाज

बास्केट बॉल महिला खिलाड़ी प्रशांति सिंह को पद्म श्री से नवाजा गया. बता दें कि प्रशाति सिंह भारतीय महिला बास्केटबॉल टीम की कप्तान हैं. प्रशांति सिंह ने का बास्केटबॉल कैरियर 25 साल का है. बता दें कि बास्केटबॉल के प्रति उनका लगाव इस बात से ही समझा जा सकता है कि 13 साल की ही उम्र में उनका चयन बनारस की टीम के लिए हो गया था. राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील क्षेत्री को को पद्म श्री अवॉर्ड से सम्मानित किया. सुनील भारतीय फुटबॉल टीम का एक प्रमुख चेहरा हैं और उन्होंने भारत में फुटबॉल को एक नई पहचान दी है. सुनील छेत्री ने अपने 107 अंतरराष्ट्रीय मैंचों में 67 गोल किए हैं. मौजूदा फुटबॉलर्स में अब छेत्री से आगे पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं, जिन्होंने 85 अंतरराष्ट्रीय गोल किए हैं.

IPL 2019: कोहली और धोनी की 'चाय पे चर्चा', VIDEO में बोले- 23 मार्च को दिखाते हैं गेम

इसके अलावा भारतीय पहलवान बजरंग पुनिया, टेबल टेनस खिलाड़ी शरत कमल, कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर और शतरंज खिलाड़ी हरिका द्रोणावल्ली को भी पद्म श्री से सम्मानित किया गया. बजरंग एक ही साल में कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाड का गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय पहलवान हैं. उन्होंने भारतीय को कुश्ती में अपना अहम योगदान दिया है. हरियाणा के रहने वाले पुनिया नें विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतकर भारत का नाम रोशन किया था.