वर्ल्ड कप से पहले गावस्कर का बड़ा बयान- रवींद्र जडेजा नहीं, विजय शंकर को टीम में शामिल करो

ऑलराउंडर विजय शंकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पांचवें वनडे में 45 रन की शानदार पारी खेली. उन्होंने 4 ओवर गेंदबाजी भी की. 

वर्ल्ड कप से पहले गावस्कर का बड़ा बयान- रवींद्र जडेजा नहीं, विजय शंकर को टीम में शामिल करो
विजय शंकर ने अब तक 4 वनडे मैच खेले हैं. वे इंडिया ए के अलावा चेन्नई सुपरकिंग्स, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए भी खेल चुके हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: इंग्लैंड में होने वाले आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2019) के लिए भारतीय टीम में किस-किस खिलाड़ी को शामिल करना चाहिए? न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज (India vs New Zealand) खत्म होने के बाद यह बहस तेज हो गई है. भारतीय कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री से लेकर कई खिलाड़ी इस बारे में अपनी-अपनी संभावित टीमें बना चुके हैं. इनमें से ज्यादातर टीमों में ज्यादा अंतर नहीं है. लेकिन सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने रविवार (3 फरवरी) को एक ऐसे नाम का समर्थन किया, जो कम से कम अभी तक वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया के राडार में नहीं दिखता है. 

पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया (Team India) के पांचवां वनडे मैच जीतने के बाद विश्व कप के लिए संभावित भारतीय टीम पर चर्चा की. उन्होंने ऑलराउंडरों का जिक्र आने पर कहा कि टीम इंडिया को दो ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और विजय शंकर (Vijay Shankar) को लेकर जाना चाहिए. हार्दिक पांड्या की जगह तो पक्की है. विजय शंकर को किसकी जगह दी जाए? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि विजय शंकर को रवींद्र जडेजा की जगह टीम में शामिल किया जाना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: कोच रवि शास्त्री ने कहा- रोहित शर्मा, शिखर धवन और मोहम्मद शमी को दे सकते हैं ‘रेस्ट’

सुनील गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स चैनल से कहा, ‘भारतीय टीम में दो स्पेशलिस्ट स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव हैं. इसलिए इंग्लैंड में हमें स्पिन गेंदबाजी करने वाले ऑलराउंडर की बजाय सीम बॉलिंग करने वाले ऑलराउंडर चाहिए. ऐसे में हार्दिक पांड्या के साथ विजय शंकर फिट रहेंगे. उन्हें हार्दिक पांड्या के कवर के तौर पर भी शामिल किया जा सकता है. दो स्पिनर होने के कारण रवींद्र जडेजा को टीम से बाहर रखा जा सकता है.’ 

28 साल के विजय शंकर ने इसी साल 18 जनवरी को अपने वनडे करियर की शुरुआत की है. उन्हें शुरुआती तीन वनडे मैचों में बैटिंग का मौका ही नहीं मिला. तमिलनाडु के इस ऑलराउंडर को भारत के लिए पहली बार बैटिंग करने का मौका रविवार (3 फरवरी) को मिला, जिसमें उन्होंने 45 रन बनाए. विजय शंकर ने चार वनडे में 16 ओवर गेंदबाजी की है. उन्होंने इन 16 ओवरों में 4.87 की इकोनॉकी रेट से 78 रन खर्च किए हैं और कोई विकेट नहीं ले सके हैं. 

यह भी पढ़ें: WIvsENG: मां के निधन के बाद भी मैदान पर उतरा विंडीज का खिलाड़ी, क्रिकेट जगत ने किया सलाम

30 साल के रवींद्र जडेजा भारत के लिए 10 साल से खेल रहे हैं. वे 147 वनडे, 41 टेस्ट और 40 टी20 मैच खेल चुके हैं. जडेजा ने 147 वनडे में 1990 रन बनाए हैं और 171 विकेट झटके हैं. टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम 1485 रन और 192 विकेट दर्ज हैं. इसी तरह टी20 मैचों में उन्होंने 116 रन बनाए हैं और 31 विकेट झटके हैं. जडेजा की एक खूबी यह है कि वे टीम के सबसे बेहतरीन फील्डर हैं. वे ना सिर्फ मैच में दूसरे खिलाड़ियों के मुकाबले ज्यादा रन बचाते हैं, बल्कि अक्सर रनआउट कर टीम को कामयाबी भी दिलाते हैं.