• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    355बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    88कांग्रेस+

  • अन्य

    99अन्य

केदार जाधव ने खोला राज- जब मन में सवाल आता, तो धोनी को देख लेता और जवाब मिल जाता...

केदार जाधव और एमएस धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में 121 रन की नाबाद साझेदारी कर भारत को जीत दिलाई. 

केदार जाधव ने खोला राज- जब मन में सवाल आता, तो धोनी को देख लेता और जवाब मिल जाता...
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में केदार जाधव (बाएं) ने 61 और महेंद्र सिंह धोनी ने 87 रन बनाए. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे में 61 रन बनाने वाले केदार जाधव ने अपनी शानदार पारी का श्रेय महेंद्र सिंह धोनी को भी दिया. जाधव जब क्रीज पर आए तो भारत का स्कोर 3 विकेट पर 113 रन था. उस वक्त भारत को जीत के लिए 20 ओवर में 118 रन चाहिए थे. यह ऐसा मौका था, जहां एक भी और विकेट गिरने से भारत पर दबाव बन जाता. जाधव और धोनी ने ऐसा नहीं होने दिया. इन दोनों ने 121 रन की नाबाद साझेदारी कर टीम को जीत दिलाई. मैच के बाद केदार जाधव ने युजवेंद्र चहल को दिए इंटरव्यू में मैच की रणनीति का खुलासा किया. 

युजवेंद्र चहल ने केदार जाधव का यह इंटरव्यू बीसीसीआई टीवी पर लिया. उन्होंने जाधव से पूछा कि जब वे बैटिंग करने पहुंचे तो टीम थोड़ा दबाव में थी. उस वक्त क्या सोचकर मैदान पर उतरे थे? केदार जाधव ने इस सवाल के जवाब में कहा, ‘यह मेरा ऑस्ट्रेलिया में पहला और इस सीरीज में आखिरी मैच भी था. इसलिए मैं देर तक क्रीज पर रहना चाहता था. मैं आमतौर पर 100 के स्ट्राइक रेट से बैटिंग करता हूं. इसलिए मैं जानता था कि मैं जितनी देर क्रीज पर रहूंगा, टीम उतना ही लक्ष्य के करीब पहुंचेगी.’

यह भी पढ़ें: INDvsNZ: ऑस्ट्रेलिया का किला फतह; अब न्यूजीलैंड की बारी, जहां हम सिर्फ एक वनडे सीरीज जीते हैं

तब ऐसा लगता है कि आपके पास दो दिमाग हैं... 
केदार जाधव ने इसी जवाब को आगे बढ़ाते हुए धोनी की क्रीज पर मौजूदगी का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘सबसे बड़ी बात यह कि सामने महेंद्र सिंह धोनी थे. तो जब भी दिमाग में सवाल आता था तो उनहें देख लेता था, तो जवाब भी मिल जाता था. जब वे क्रीज पर होते हैं तो बैटिंग बहुत आसान हो जाती है. जब आप उनके साथ बैटिंग करते हैं, तो कुछ ऐसा होता है कि आपके पास दो दिमाग हैं. उनके साथ बैटिंग करना हमेशा अच्छा रहता है. 

गेंदबाजों को टारगेट की स्ट्रेटजी बनाते थे 
जब आप और धोनी बैटिंग कर रहे थे तब एक वक्त रनरेट ऊपर भी गया. फिर नीचे आया, फिर दोबारा ऊपर गया.? उस समय माही भाई के साथ आपकी क्या बात हुई थी? केदार जाधव ने इसके जवाब में कहा, ‘जब भी रन और गेंद के बीच 10-15 का अंतर बनता था, तब हम यह तय करते थे कि किस गेंदबाज को टारगेट करना है. कितने ओवर के बाद टारगेट करना है. गैप कैसे कम करना है. किस गेंदबाज के कितने ओवर बचे हैं. मैच के दौरान कैलकुलेशन चलता रहता है और हर ओवर के बाद वह बदलता रहता है. हम अपनी-अपनी स्ट्रेंथ के मुताबिक बाउंड्री की तलाश करते रहे.’  

यह भी पढ़ें: VIDEO: केदार जाधव का युजवेंद्र चहल से वादा- आपके टीवी चैनल को चांद पर लेकर जाऊंगा

धोनी चुने गए मैन ऑफ द सीरीज 
भारत ने ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) को तीसरे वनडे में सात विकेट से हराया. भारतीय टीम ने पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम को 230 रन पर रोका. फिर तीन विकेट पर 234 रन बनाकर मैच जीत लिया. मैच में छह विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल को मैन ऑफ द मैच चुना गया. एमएस धोनी ने 87 रन की नाबाद पारी खेली. उन्हें लगातार तीन मैचों में अर्धशतक बनाने के लिए मैन ऑफ द सीरीज चुना गया.