close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Good News: भारत फिर कर सकेगा अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी, IOC ने प्रतिबंध हटाया

इससे दो दिन पहले ही केंद्र सरकार ने आश्वासन दिया था कि किसी योग्य खिलाड़ी को राजनीतिक कारणों से वीजा देने से इनकार नहीं किया जाएगा. 

Good News: भारत फिर कर सकेगा अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी, IOC ने प्रतिबंध हटाया

लुसाने: अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी पर भारत पर लगा प्रतिबंध गुरुवार को हटा दिया. आईओसी के कार्यकारी बोर्ड की बैठक में यहां फैसला लिया गया. इससे दो दिन पहले ही केंद्र सरकार ने आश्वासन दिया था कि किसी योग्य खिलाड़ी को राजनीतिक कारणों से वीजा देने से इनकार नहीं किया जाएगा. भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को लिखे पत्र में आईओसी निदेशक (ओलंपिक एकजुटता और एनओसी संबंध) जेम्स मैकलियोड ने भारत सरकार से मिले आश्वासन पर संतोष जताया .

आईओसी निदेशक जेम्स मैकलियोड ने कहा, ‘हम आईओसी पर 21 फरवरी 2019 को भारत में किसी भी खेल आयोजन की मेजबानी के संदेर्भ में लगाया गया प्रतिबंध तुरंत प्रभाव से वापस लेते हैं. हम राष्ट्रीय ओलंपिक समिति और भारत सरकार को इस मसले का हल निकालने में उनके संयुक्त प्रयासों के लिए धन्यवाद देते हैं.’ 

यह भी पढ़ें: T20 League: युवराज सिंह ने विदेशी लीग में खेलने के लिए किया करार, जानें कहां खेलेंगे

आईओसी ने इस साल फरवरी में दिल्ली में विश्व कप के लिए दो पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा नहीं दिए जाने के बाद वैश्विक टूर्नामेंटों की मेजबानी के सिलसिले में भारत से किसी तरह की बातचीत से इनकार कर दिया था . इसके बाद विश्व कुश्ती ने भारत से जूनियर एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप की मेजबानी छीनी. भारत ने जूनियर डेविस कप और फेड कप की मेजबानी भी गंवाई. टेनिस महासंघ ने हालांकि कहा था कि आर्थिक कारणों से उसने खुद की मेजबानी छोड़ी थी.

यह भी पढ़ें: ICC World Cup से फिर बिना खेले लौटेंगे दिनेश कार्तिक? तो फिर बनाएंगे अनोखा रिकॉर्ड

आईओसी ने नई दिल्ली निशानेबाजी विश्व कप से ओलंपिक क्वालीफायर का दर्जा भी वापस ले लिया था. पुलवामा पर आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया था . पिछले साल भारत ने दिल्ली में विश्व महिला चैम्पियनशिप में कोसोवो के मुक्केबाजों को वीजा नहीं दिया था. 

यह भी पढ़ें: World Cup: न्यूजीलैंड ने 5 मैच में नहीं बदली टीम, अफ्रीका ने सबको उतारा, जानें बाकियों का हाल

निशानेबाजी विश्व कप (ISSF World Cup) विवाद के बाद आईओसी ने कहा था कि वह भारत को भविष्य में तब तक ओलंपिक संबंधित टूर्नामेंटों की मेजबानी नहीं देगी जब तक सरकार से उनकी भागीदारी को लेकर आश्वासन नहीं मिल जाता. सरकार की ओर से पिछले दिनों खेल सचिव राधेश्याम झूलानिया ने आईओए अध्यक्ष बत्रा ने कहा भारत सभी चुने गए खिलाड़ियों को भागीदारी की अनुमति देगा चाहे वे किसी भी राष्ट्रीय ओलंपिक समिति या अंतरराष्ट्रीय महासंघ से हों.