ओलंपिक 2032 की संयुक्त कोरियाई मेजबानी के लिए सियोल को चुना गया

2032 में होने वाले ओलंपिक की दावेदारी से जुड़े फैसलों के लिए स्विट्जरलैंड के लुसाने में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) की बैठक होनी है. 

ओलंपिक 2032 की संयुक्त कोरियाई मेजबानी के लिए सियोल को चुना गया
ओलंपिक रिंग की तस्वीर. (फोटो: Reuters)

सियोल: दक्षिण कोरिया ने 2032 ओलंपिक की दावेदारी के लिए अपनी राजधानी सियोल को मेजबान शहर के रूप में चुना है. दक्षिण कोरिया 2032 ओलंपिक की मेजबानी उत्तर कोरिया के साथ मिलकर करना चाहता है. उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन संयुक्त मेजबानी के जरिए दोनों देशों को करीब लाना चाहते हैं. अभी इन दोनों देशों के बीच शत्रुता का माहौल है. 

दोनों कोरियाई देश शुक्रवार को स्विट्जरलैंड के लुसाने में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) को आधिकारिक रूप से बोली के अपने फैसले से अवगत कराएंगे. उत्तर कोरिया के इसी हफ्ते अपने दावेदार शहर की घोषणा करने की उम्मीद है. सियोल के अधिकारियों ने बताया कि माना जा रहा है कि उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग को आईओसी की बैठक से पहले या इसके बाद दौरे के लिए चुना जा सकता है. 

दक्षिण कोरिया ने पिछले साल शीतकालीन ओलंपिक की मेजबानी की थी. इसमें दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया ने आइस हॉकी समेत कुछ खेलों में संयुक्त टीमें उतारी थीं. इसी टूर्नामेंट के दौरान दोनों देशों ने 2032 ओलिंपिक की संयुक्त मेजबानी पर भी बात की थी. 

आईओसी आगामी ओलंपिक खेलों के आयोजन से सात साल पहले मेजबान शहरों की घोषणा नहीं कर सकती. ऐसे में दोनों कोरियाई देशों के पास संयुक्त दावेदारी पेश करने हेतु 2025 तक का समय है. जर्मनी ने पहले ही 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी के लिए दावेदारी पेश करने की घोषणा कर दी है. साल 2020 में जापान की राजधानी टोक्यो में ओलंपिक खेल होंगे. इसके बाद 2024 में पेरिस और 2018 में लॉस एंजिल्स में ओलंपिक खेल होंगे. 

(इनपुट: भाषा)