close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

eci

आधार कार्ड को Voter ID से जोड़ना चाहता है चुनाव आयोग, कानून मंत्रालय को पत्र लिख कानून मेें संशोधन की मांग की

चुनाव आयोग का मानना है कि आधार कार्ड से मतदाता सूची से जोड़ने पर डुप्‍लीकेट मतदाता पहचान पत्र में कमी आएगी.

Aug 16, 2019, 11:10 AM IST

Lok Sabha Election Results 2019 : लेट आएंगे नतीजे, जानिए किस टाइम तक आ सकता है परिणाम

उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में किसी एक विधानसभा क्षेत्र के किन्हीं पांच मतदान केन्द्रों की वीवीपीएटी मशीनों की पर्चियों का मिलान ईवीएम के मतों से किया जायेगा. इस बाध्यता का हवाला देते हुये आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि देर शाम तक परिणाम आने की संभावना है. 

मई 23, 2019, 06:59 AM IST

चुनाव आयोग के इस मोबाइल एप पर जानें लोकसभा चुनाव 2019 के रुझान, परिणाम

चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के लिए होने वाली मतगणना में ताजा रुझानों और परिणामों के लिए मोबाइल एप वोटर हेल्पलाइन पेश किया है.

मई 23, 2019, 12:32 AM IST

लोकसभा चुनाव 2019: मतगणना के चलते इस इलाके में प्रतिबंधित रहेगी आमजनों की आवाजाही

लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना के चलते यातायात पुलिस ने दिल्‍ली के द्वारका इलाके में कुछ मार्गों में वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया है. यह प्रतिबंध 23 मई की सुबह 4 बजे से लागू होगा. 

मई 22, 2019, 06:24 PM IST

अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण, सतर्क और चौकन्ने रहें, डरें नहीं- राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा

खुद पर और कांग्रेस पार्टी पर विश्वास रखें, आपकी मेहनत बेकार नहीं जाएगी. साथ ही उन्‍होंने एग्जिट पोल के आंकड़ों को फर्जी भी करार दिया. 

मई 22, 2019, 01:53 PM IST

लोकसभा चुनाव 2019: मतगणना कल, नतीजों में होगी देरी, इस वक्‍त तक आ सकता है रिजल्‍ट

पहली बार ईवीएम गणना के साथ मतदाता सत्यापित पेपर ऑडिट पर्चियों (वीवीपैट) का मिलान किए जाने के कारण, देर शाम तक परिणाम आने की संभावना है. 542 सीटों पर 8,000 से अधिक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं. 

मई 22, 2019, 01:09 PM IST

चुनावनामा 2014: 3 दशक बाद किसी सियासी दल को मिला पूर्ण बहुमत, मोदी बने देश के 19वें प्रधानमंत्री

लोकसभा चुनाव 2019 अपने अंतिम पड़ाव पर है. 23 मई को नतीजे सामने आने के बाद यह साफ हो जाएगा कि अगले पांच साल देश की बागड़ोर किसके पास रहेगी. 

मई 17, 2019, 02:56 PM IST

चुनाव आयोग के सूत्रों ने कहा, 'प्रचार नहीं रोक सकते लेकिन हिंसा की अनुमति भी नहीं दे सकते'

राज्य की नौ लोकसभा सीटों पर प्रचार को बृहस्पतिवार सुबह से नहीं थामने को लेकर आयोग पर राजनीतिक दलों का हमला जारी है. विपक्ष ने आरोप लगाया कि राज्य में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैलियों के लिए ऐसा किया गया है.

मई 17, 2019, 07:32 AM IST

चुनावनामा 2009: जब BJP ने 'आडवाणी' को बनाया PM पद का उम्‍मीदवार और मनमोहन सिंह के हाथ लगी बाजी

लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार अभियान के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी लगातार बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी को ढाल बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोल रहे हैं. 

मई 16, 2019, 02:32 PM IST

चुनावनामा 2004: बेअसर रही इंडिया शाइनिंग की मुहिम, 8 साल बाद फिर सत्‍ता में लौटी कांग्रेस

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने में अब महज सात दिन शेष रह गए हैं. सात दिन बाद स्‍पष्‍ट हो जाएगा कि इस चुनाव में मतदाताओं ने देश की सत्‍ता किस दल को सौंपी है. फिलहाल, बात उस दौर की, जब बीजेपी की इंडिया शाइनिंग मुहिम बेअसर रही और देश की सत्‍ता एक बार फिर कांग्रेस के हाथों में चली गई.

मई 15, 2019, 10:15 AM IST

चुनावनामा 1977: इमरजेंसी के बाद सत्‍ता हासिल करने के लिए इंदिरा ने फेंका सियासी पैंतरा

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) को अपने पक्ष में लाने के लिए अतीत के पन्‍नों को पटला जा रहा है. हर राजनैतिक दल अपने विरोधी के अतीत को टटोल कर आइना दिखाने की कोशिश कर रहा है. राजनैतिक दलों के इस कोशिश के बीच हम आपको 'आपातकाल के बाद'के दौर से रूबरू कराते हैं. 

Apr 16, 2019, 12:51 PM IST

चुनावनामा: 1971 का लोकसभा चुनाव जीतने के लिए इंदिरा ने दिया था 'गरीबी हटाओ' का नारा

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में एक बार फिर सभी राजनैतिक दल 'गरीबी हटाओ' के नारे के साथ चुनावी मैदान में हैं. इससे पहले यह नारा 1971 के लोकसभा चुनाव में अपनों से धोखा खाई इंदिरा गांधी ने चुनाव जीतने के लिए दिया था.  

Apr 12, 2019, 05:57 PM IST

चुनावनामा 1971: अपनों की बगावत के बाद जब इंदिरा ने बनाई देश की पहली गठबंधन सरकार

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में सत्‍तारूढ़ और विपक्षी दल गठबंधन के सहारे सत्‍ता की चाबी हासिल करने की कोशिश में लगे हैं. देश की राजनीति में पहला गठबंधन 1969 में तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपनी सरकार बचाने के लिए किया था.

Apr 11, 2019, 05:52 PM IST

चुनावनामा: जब 5 साल में देश ने देखे 4 प्रधानमंत्री

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में बीजेपी को सत्‍ता से बेदखल करने के लिए विपक्षी दलों ने महागठबंधन बनाया है. गठबंधन बनने के साथ यह सवाल भी उठने लगे हैं कि अगर महागठबंधन बहुमत का जादूई आंकड़ा पाने में कामयाब होता है तो प्रधानमंत्री कौन बनेगा. कुछ ऐसी ही परिस्थितियां 1962 से 1967 के बीच बनी थी. जब देश ने 5 साल में 4 प्रधानमंत्री देखे थे. 

Apr 5, 2019, 05:20 PM IST

चुनावनामा: जब 'गांधी' ने किया आजाद भारत के पहले घोटाले का खुलासा, जनता के सामने हुई सुनवाई

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में सरकार और विपक्ष एक-दूसरे पर घोटालों का आरोप लगाकर चुनावी जीत हासिल करने की‍ कोशिश में लगे हैं. अतीत की सरकारें भी इन घोटालों के आरोप से अछूती नहीं रही हैं. देश की दूसरी लोकतांत्रिक सरकार पर घोटाले का पहला आरोप लगा था.

Apr 4, 2019, 05:47 PM IST

चुनावनामा: कुछ यूं बदल गई लोकसभा चुनाव में अपने प्रत्‍याशी को चुनने की प्रक्रिया

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में भी ईवीएम मशीन की विश्‍वसनीयता को लेकर सवाल उठ रहे हैं. ईवीएम को लेकर तमाम सवालों के बीच हम आपको बताते हैं कि 1951 के पहले लोकसभा चुनाव से पहले 8200 टन स्‍टील का इस्‍तेमाल कर तैयार की गई थीं 22 हजार मतपेटियां.

Mar 29, 2019, 06:35 PM IST

चुनावनामा: 1962 के चुनाव में इन मुद्दों ने बढ़ाई कांग्रेस की मुश्किलें, घट गई 10 सीटें

1957 से 1962 के बीच कांग्रेस पार्टी के अंतरूनी मामलों से जूझ ही रही थी, तभी जमींदारी प्रथा के उन्‍मूलन और कोटा परमिट राज के खिलाफ सी.राजगोपालाचारी ने मोर्चा खोल दिया.

Mar 29, 2019, 06:16 PM IST

जब सामाजिक कार्यकर्ता पोट्टी श्रीरामलू का हुआ निधन और भाषाई आधार पर बंट गया पूरा देश...

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के नतीजे एक बार फिर जातीय और भाषाई समीकरण पर निर्भर हो सकते हैं. भारतीय राजनीति में जातीय और भाषाई समीकरण शुरू से ही हावी रहे है. 1951 में राज्‍यों के पुनर्गठन के दौरान भी भाषाई समीकरण बेहद हावी रहा है.   

Mar 29, 2019, 06:02 PM IST

चुनावनामा: मतदाताओं ने नकारे 1025 उम्‍मीदवार, 494 नहीं बचा सके अपनी जमानत

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के लिए प्रत्‍याशियों के नामांकन की प्रक्रिया जारी है. यह प्रक्रिया पूरी हो इससे पहले हम आपको बातते हैं 1957 में हुए देश के दूसरे लोकसभा चुनाव का हाल. 1957 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनसंघ के 4, सीपीआई के 24, प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी के 55 और क्षेत्रीय दलों के 40 उम्‍मीदवारों की इस चुनाव में जमानत जब्‍त हो गई थी.    

Mar 29, 2019, 04:46 PM IST

जब 19 देशों में महिलाएं नहीं कर सकती थीं मतदान, तब भारत ने चुनी थी 22 महिला सांसद

1950 में लागू हुए भारतीय संविधान ने पहले दिन से महिलाओं को न केवल मतदान करने बल्कि चुनाव लड़ने का अधिकार दिया था. इसी अधिकार के चलते, 1951 के पहले लोकसभा चुनाव में 24 और 1957 के दूसरे लोकसभा चुनाव में 22 महिलाएं चुनाव जीत कर सांसद बनी थी.

Mar 27, 2019, 03:34 PM IST