बजट 2019 में रेलवे के लिए 1.6 लाख करोड़ के ऐलान की उम्मीद, हो सकती हैं ये 5 घोषणाएं

लोकसभा चुनाव से पहले पीयूष गोयल आज interim budget 2019 पेश करेंगे. चुनावों से पहले पेश होने वाले अंतरिम बजट के लोकलुभावन होने की संभावनाएं हैं. तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में आशाजनक प्रदर्शन नहीं करने के बाद उम्मीद की जा रही है कि एनडीए सरकार बजट को चुनावों को ध्यान में रखकर पेश करेगी.

बजट 2019 में रेलवे के लिए 1.6 लाख करोड़ के ऐलान की उम्मीद, हो सकती हैं ये 5 घोषणाएं

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव से पहले पीयूष गोयल आज अंतरिम बजट पेश करेंगे. चुनावों से पहले पेश होने वाले अंतरिम बजट के लोकलुभावन होने की संभावनाएं हैं. तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में आशाजनक प्रदर्शन नहीं करने के बाद उम्मीद की जा रही है कि एनडीए सरकार बजट को चुनावों को ध्यान में रखकर पेश करेगी. जानकारों का मानना है कि इस बजट में सरकार का पूरा ध्यान युवाओं, नौकरीपेशा, किसान और महिलाओं को लुभाने पर होगा. इसके अलावा यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए रेलवे सेक्टर में भी सरकार की तरफ से कई खास ऐलान होने की उम्मीद है.

ट्रेन प्रोटेक्शन वॉर्निंग सिस्टम, GPS-लैस ट्रैक सिस्टम संभव
इस बार के बजट में ट्रेन हादसों को ध्यान में रखते हुए ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम और जीपीएस इनेबल ट्रेन ट्रैकिंग सिस्टम पर जोर दिए जाने की उम्मीद है. इसके अलावा आधुनिक मशीनों से ट्रैक मेंटिनेंस आदि पर भी जोर दिए जाने की उम्मीद है. सूत्रों के अनुसार इस बजट में सुरक्षित रेल परिचालन को लेकर सरकार काफी ध्यान दे रही है. ट्रैक व लोको मेंटीनेंस के लिए आधुनिक मशीनों के प्रयोग का प्रावधान भी किया जाएगा.

ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने की उम्मीद
रेलवे की तरफ से राजधानी एक्सप्रेस से भी तेज गति से चलने वाली 'ट्रेन-18' का सफलता पूर्वक ट्रायल पूरा होने के बाद अन्य गाड़ियों की भी रफ्तार बढ़ाए जाने की उम्मीद है. इस बार के रेल बजट में कुछ सेमी हाई स्पीड ट्रेनों और मेल एक्सप्रेस रेलगाड़ियों की गति बढ़ाने को लेकर घोषणा हो सकती है. रेलवे ने कई रूट पर इलेक्ट्रीफिकेशन का काम पूरा कर लिया है. इससे आने वाले समय में ट्रेनों की गति बढ़ाने में मदद मिलेगी. बजट में कई हाई स्पीड कॉरीडोर की घोषणा हो सकती है.

600 स्टेशनों पर स्व-चलित सीढ़ियां, लिफ्ट और वाई-फाई संभव
रेल बजट 2018 की तरह इस बार भी रेलवे स्टेशनों पर स्व-चलित सीढ़ियों का ऐलान किए जाने की उम्मीद है. इस बार उम्मीद की जा रही है कि पीयूष गोयल की तरफ से 600 रेलवे स्टेशनों पर एस्केलेटर की सुविधा दिए जाने का ऐलान किया जा सकता है. रेलवे की तरफ से देश के कई बड़े स्टेशनों पर स्व-चलित सीढ़ियों और लिफ्ट का काम पूरा हो चुका है, जबकि कुछ स्टेशनों पर यह काम चल रहा है. इसके अलावा वाई-फाई की सुविधा शुरू करने के लिए भी कई स्टेशनों पर पहल होगी.

रेलवे के लिए 1,60,000 करोड़ का बजट संभव
बजट 2018 में रेलवे के पूंजीगत व्‍यय को बढ़ाकर 1,48,528 करोड़ रुपये करने का ऐलान किया गया था. इस बार जानकारों को उम्मीद है कि सरकार की तरफ से रेलवे की तरफ से 1,60,000 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया जा सकता है. हालांकि रेलवे मिनिस्ट्री ने वित्त मंत्रालय से पिछली बार के बजट के मुकाबले इस बार 30 प्रतिशत का इजाफा करने की मांग की है.

यात्रियों की सुरक्षा
रेलवे की तरफ से पिछले दिनों में यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते कई बड़े बदलाव किए गए हैं. 1 फरवरी को पेश होने वाले अंतरिम बजट में भी पीयूष गोयल की तरफ से रेल यात्रियों के लिए कई सौगात पेश किए जाने की उम्मीद है. जानकारों का मानना है कि यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर ट्रेनों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे. इसके अलावा सिग्नल प्रणाली में भी पहले के मुकाबले सुधार किया जाएगा. इसके लिए भी आवंटन किया जाएगा.