भारतीय मूल के उबर चालक ने मानी अपहरण की बात, ज्यादा किराया वसूलने के लिए किया ऐसा...

उसने अपनी टैक्सी में सो रही एक यात्री से ज्यादा किराया वसूल करने के लिए उसे उसके गंतव्य से 60 किलोमीटर दूर ले गया.

भारतीय मूल के उबर चालक ने मानी अपहरण की बात, ज्यादा किराया वसूलने के लिए किया ऐसा...
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

न्यूयॉर्कः ऐप आधारित टैक्सी सेवा उबर के भारतीय मूल के एक चालक ने वाहन में सो रही एक महिला यात्री के अपहरण और किराया बढ़ाने के लिए महिला को उसके गंतव्य से 60 मील से अधिक दूर ले जाने का अपराध स्वीकार किया है. न्यूयॉर्क के 25 वर्षीय हरबीर परमार ने व्हाइट प्लेन्स संघीय अदालत में अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि उसने अपनी टैक्सी में सो रही एक यात्री से ज्यादा किराया वसूल करने के लिए पहले तो गंतव्य से 60 किलोमीटर दूर ले गया और फिर वहां जाकर उससे ज्यादा किराए की मांग की.

बोरडॉक्स फुटबॉलर सैमुअल कालू की मां का नाइजीरिया में अपहरण

मिली जानकारी के मुताबिक उबर चालक को अक्टूबर 2018 में धोखाधड़ी और अपहरण के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, जिसके बाद पुलिस को दिए बयान में उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया था. आरोपी ड्राइवर को जून में सजा सुनाई जाएगी. तब तक के लिए अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. बता दें अपराध स्वीकार करते हुए टैक्सी ड्राइवर ने अन्य कई और चौंकाने वाले खुलासे किए हैं, जिसमें उसने बताया कि यह पहली बार नहीं था, जब उसने ऐसा किया हो. इससे पहले भी ज्यादा किराया वसूल करने के चक्कर में वह ऐसा कर चुका है.

UP: रेप पीड़िता का आरोप, पहले किडनैप किया फिर 6 लोगों ने किया गैंगरेप

अमेरिकी अटॉर्नी जियोफ्री बर्मन ने बताया कि उबर टैक्सी ड्राइवर हरबीर परमार ने महिला का अपहरण करके और उसे डराकर उसका लाभ उठाने की कोशिश की. पहले तो वह महिला को उसके गंतव्य से 60 किलोमीटर दूर सुनसान इलाके में ले गया और वहां पहुंचने के बाद उसे वापस लेकर जाने के लिए ज्यादा किराए की मांग करने लगा. उन्होंने कहा, ''इसके अलावा उसने टैक्सी सेवा का उपयोग करने वाले कई ग्राहकों से धोखाधड़ी करके शुल्क वसूला.''