close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डीआर कांगो में 50 से अधिक सामूहिक कब्रों का लगाया गया पता: संरा मानवाधिकार समूह

पश्चिमी डीआर कांगो में सामुदायिक हिंसा में पिछले एक माह में करीब 890 लोग मारे जा चुके हैं

डीआर कांगो में 50 से अधिक सामूहिक कब्रों का लगाया गया पता: संरा मानवाधिकार समूह
स्थानीय अधिकारियों के साथ एक संयुक्त तथ्यान्वेषी मिशन चलाया गया है. (फाइल फोटो)

किन्शासाः पश्चिमी डीआर कांगो में लगातार हुई हिंसा के बाद 50 से अधिक सामूहिक कब्रों का पता चला है. संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार समूह ने शनिवार को यह जानकारी दी. डीआरसी में यूएन ह्यूमन राइट जॉइंट ऑफिस (यूएनजेएचआरओ) के निदेशक अब्दुल अजीज थियोये ने बताया कि पश्चिमी मे-दोमबे प्रांत के युम्बी में 50 से अधिक सामूहिक कब्रों का पता लगा है. '' हमने कुछ संयुक्त और कुछ निजी कब्रों की पहचान की है. '' स्थानीय अधिकारियों के साथ एक संयुक्त तथ्यान्वेषी मिशन चलाया गया है. 

US ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से तोड़ा नाता, कहा 'पाखंडी' संस्थाओं से उपदेश नहीं सुनेगा

बता दें संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने 17 जनवरी को कहा था कि पश्चिमी डीआर कांगो में सामुदायिक हिंसा में पिछले एक माह में करीब 890 लोग मारे जा चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय के मुताबिक माई-डोंबे प्रांत के युम्बी के चार गांवों में बनुनू और बाटेंडे समुदायों के बीच हुए संघर्ष में 16 से 18 दिसंबर 2018 के बीच ही 890 लोगों की जान चली गई.

इस देश में तख्तापलट करने की योजना बना रहा था अमेरिका, उपराष्ट्रपति ने शेयर किया था वीडियो

वहीं इलाके में चल रही भीषण हिंसा के चलते कई लोग पलायन के लिए मजबूर हो गए. असुरक्षा की वजह से राष्ट्रपति पद का चुनाव भी कुछ दिनों के लिए टालना पड़ा था. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय उच्चायुक्त मिशेल बेशलेट ने हिंसा की निंदा करते हुए कहा था कि 'यह हिंसा झकझोर देने वाली है.' निश्चित तौर पर इसकी जांच की जानी चाहिए और हिसा करने वालों को सजा मिलनी चाहिए.