6 माह तक बदरीनाथ धाम में दर्शन देंगे भगवान बदरी विशाल, ब्रह्म मुहूर्त में खुले कपाट

सोमवार को पांडुकेश्वर स्थित योग ध्यान मंदिर से रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी के नेतृत्व में तेल कलश यात्रा बदरीनाथ धाम पहुंची. इसके अलावा धर्माधिकारी भुवन उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधकृष्ण थपलियाल समेत चुनिंदा तीर्थ पुरोहित भी बदरीनाथ पहुंचे.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 18, 2021, 11:45 AM IST
  • कोरोना के कारण श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति नहीं
  • ब्रह्म बेला में चार बजकर 15 मिनट पर खोले गए कपाट
6 माह तक बदरीनाथ धाम में दर्शन देंगे भगवान बदरी विशाल, ब्रह्म मुहूर्त में खुले कपाट

नई दिल्लीः भगवान बदरी विशाल भी मंगलवार से श्रद्धालुओ को दर्शन देंगे. चार धामों में से सबसे महत्वपूर्ण धाम बदरीनाथ धाम के कपाट खोल दिए गए. पूरे विधि-विधान से ब्रह्म मुहूर्त में कपाट खोलने की प्रक्रिया संपन्न की गई. इस मौके पर मंदिर को फूलों से सजाया गया.

सोमवार को पांडुकेश्वर स्थित योग ध्यान मंदिर से रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी के नेतृत्व में तेल कलश यात्रा बदरीनाथ धाम पहुंची. इसके अलावा धर्माधिकारी भुवन उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधकृष्ण थपलियाल समेत चुनिंदा तीर्थ पुरोहित भी बदरीनाथ पहुंचे.

चारधाम यात्रा है स्थगित
Corona की दूसरी लहर को देखते हुए सरकार ने चार धाम यात्रा स्थगित कर रखी है. धामों के कपाट निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही खोले जा रहे हैं. इसी के तहत बदरीनाथ धाम के कपाट ब्रह्म बेला में चार बजकर 15 मिनट पर विधि-विधान और वेद मंत्रोच्चार के बीच खोल दिए गए हैं. कोरोना संक्रमण के चलते इस अवसर पर सिर्फ मुख्य पुजारी, वेदपाठियों के अलावा देवस्थानम बोर्ड के कुछ कर्मचारी ही मौजूद रहे.

यह भी पढ़िएः विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम के कपाट खुले, श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति नहीं

ऐसी रही डोली यात्रा
जानकारी के मुताबिक, सोमवार सुबह योगध्यान बदरी मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद भगवान बदरी विशाल की उत्सव डोली के साथ ही शंकराचार्य गद्दी व गाडू घड़ा बदरीनाथ धाम के लिए रवाना किया गया था. इस दौरान पांडुकेश्वर, विष्णुप्रयाग, लामबगड़ आदि स्थानों पर उत्सव डोली की पूजा की गई. हनुमानचट्टी पहुंचकर वीर हनुमान के दर्शनों के किए गए, इसके बाद डोली बदरीनाथ धाम पहुंची. 

उत्सव डोली के साथ धाम के मुख्य पुजारी रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, धर्माधिकारी भुवन उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधकृष्ण थपलियाल, सत्य प्रसाद चमोला, भितला बड़वा ज्योतिष डिमरी, अंकित डिमरी, हरीश डिमरी, मंदिर व्यवस्था से जुड़े हुए हक-हकूकधारी मेहता, भंडारी, कमदी, रैंकवाल थोक के प्रतिनिधि बदरीनाथ पहुंचे. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़