जानिये, जम्मू कश्मीर पर अपनी किस बात से मुकरा चीन

भारत ने जब से जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त करने का फैसला किया है तब से चीन भारत के खिलाफ कोई बड़ा कदम उठाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है.  पहले खबर आ रही थी कि चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में दूसरी बार अपील की है कि कश्मीर मामले पर बंद दरवाजे में चर्चा की जाए. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 17, 2019, 11:32 PM IST
    • कश्मीर मामले पर बंद दरवाजे में चर्चा की कराने की अपनी बात से मुकरा चीन
    • चीन ने अपने राजनयिकों से विमर्श करके लिया फैसला
    • पाकिस्तान के लिये है बड़ा झटका
जानिये, जम्मू कश्मीर पर अपनी किस बात से मुकरा चीन

दिल्ली: खबर आ रही थी कि चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में दूसरी बार अपील की है कि कश्मीर मामले पर बंद दरवाजे में चर्चा की जाए लेकिन चीन अपने इस स्टैंड से पलट गया है. माना जा रहा है कि चीन वैश्विक स्तर पर बढ़ती भारत की ताकत के चलते ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा सका. सोमवार को काफी चर्चा के बाद चीन ने यह अपील वापस ले ली.

चीन ने अपने राजनयिकों से विमर्श करके लिया फैसला

बताया जा रहा है कि चीन ने जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा करके अपील करने का फैसला किया था, लेकिन न्यूयॉर्क में भारतीय मिशन और UNSC के सभी पंद्रह सदस्यों के बीच राजनयिक संपर्क के बाद यह फैसला बदला गया. भारत ने इस बारे में यूएन के पांच स्थायी सदस्यों और 10 अस्थायी सदस्य देशों से चर्चा की थी और अपना पक्ष रखा था. 

स्थायी देशों में से भारत के सहयोगी ने भी चीन की अपील पर विचार किया और कहा कि इस मसले पर दूसरी बार चर्चा की जरूरत नहीं है. काफी विचार-विमर्श के बाद चीन ने अपनी अपील वापस ले ली.

पाकिस्तान के लिये है बड़ा झटका

आपको बता दें कि यूएन के मंगलवार के शेड्यूल में 'कश्मीर' नहीं था, जैसा कि इसी साल 2 अगस्त को शिड्यूल हुआ था. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने 12 दिसंबर को सुरक्षा परिषद को पत्र लिखा था और कश्मीर में अस्थिरता को लेकर चिंता व्यक्त की थी. पाकिस्तान उम्मीद लगाए बैठा था कि चीन उसके झूठे प्रोपेगंडा को आगे बढ़ायेगा लेकिन चीन भी भारत के रुख के आगे ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा सका.

पढ़ें, मुशर्रफ को सुनाई फांसी की सजा, पीड़ा में पाकस्तानी सेना

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़