मुलायम सिंह यादव के परिवार में एक बार फिर आंतरिक मतभेद उजागर

उत्तर प्रदेश की राजनीति में खासा महत्व रखने वाला मुलायम सिंह यादव का परिवार एक बार फिर से चर्चा में है. इस बार सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने एक ऐसा बयान दिया जिससे समाजवादी पार्टी और यादव परिवार में आपसी मतभेद उजागर हो गये हैं.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 18, 2019, 05:11 PM IST
    • पहले भी पार्टी के खिलाफ बोल चुकी हैं अपर्णा
    • सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू हैं अपर्णा यादव
    • अखिलेश यादव ने NRC का किया विरोध
    • दिल्ली में कई जगह पर हो रही हिंसा
मुलायम सिंह यादव के परिवार में एक बार फिर आंतरिक मतभेद उजागर

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर में हो रहे विरोध और प्रदर्शन के बीच सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने एनआरसी के पक्ष में ट्वीट किया है. आपको बता दें कि संसद और उसके बाहर दोनों जगह समाजवादी पार्टी इस कानून का विरोध कर रही है. इस बीच अपर्णा यादव का इसके पक्ष में ट्वीट करना यादव परिवार में आंतरिक कलह की ओर इशारा करता है.

पहले भी पार्टी के खिलाफ बोल चुकी हैं अपर्णा

उल्लेखनीय है कि अपर्णा पहले भी अपनी पार्टी से अलग राय रखती रही हैं. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के समय वो अखिलेश यादव के खिलाफ शिवपाल गुट का समर्थन कर रही थीं और मुलायम सिंह यादव को ही सपा का प्रमुख मानती थीं. कई बार अपर्णा ने उन मुद्दों पर भाजपा के विचारों का समर्थन किया है जिनका विरोध सपा अक्सर करती रहती है. अपर्णा यादव ने योगी सरकार के एंटी रोमियो स्क्वायड की प्रशंसा की थी.

अखिलेश यादव ने NRC का किया विरोध

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एनआरसी को भाजपा की डराने वाली रणनीति करार दिया था. उन्होंने कहा था कि एनआरसी अगर लागू हुआ तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ही यहां से जाना पड़ जाएगा क्योंकि वह उत्तराखंड के हैं. सपा के राज्यसभा सांसद और अखिलेश यादव के चाचा रामगोपाल यादव ने इसे संविधान विरोधी करार दिया था.

दिल्ली में कई जगह पर हो रही हिंसा

आपको बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में नागरिकता कानून का कई जगहों पर हिंसक विरोध हो रहा है जिसमें राजनीतिक दलों की संलिप्तता भी उजागर हुई है. दिल्ली के जाफराबाद में शुरू हुए हिंसक विरोध के बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला. इस बारे में बात करते हुए पुलिस ने कहा कि जाफराबाद जो उत्तरी-पूर्वी दिल्ली का हिस्सा है, वहां उपद्रवियों ने आज विरोध मार्च किया, वह भी हिंसक. हम इससे निपटने की कोशिश कर रहे हैं.

आप विधायकों की संलिप्तता की हो रही है जांच

दिल्ली पुलिस की ओर से जारी बयान में यह भी कहा गया कि जामिया कांड में जो आप विधायकों की संलिप्तता का मामला दर्ज कराया गया है, हम उसकी जांच कर रहे हैं. इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी जा सकती है. लेकिन जल्द ही इसपर एक्शन लिया जाएगा. 

क्लिक करें- जामिया हिंसा पर पुलिस का बयान कहा हमने नहीं चलाई गोली, कई जवान भी हुए हैं घायल

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़