जुमे का नमाज: UP के इन 14 जिलों में बंद है इंटरनेट सेवा

पिछले 20 दिसंबर यानी जुमे को यूपी के अलग-अलग हिस्सों में जब हिंसा की आग सुलग रही थी. उस वक्त प्रदेश को जलाने की साजिश रची गई थी. दंगाइयों ने पुलिसवालों को निशाना बनाया था. लेकिन, इब बार जुमे को लेकर यूपी सरकार पहले से ही अलर्ट है. कुल 14 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद की गई है.

जुमे का नमाज: UP के इन 14 जिलों में बंद है इंटरनेट सेवा

नई दिल्ली: नागरिकता कानून पर हुए विरोध के बाद यूपी पुलिस शुक्रवार को जुमे की नमाज पर अलर्ट पर है. दरअसल, पिछले जुमे की नमाज के बाद यूपी के कई शहरों में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया था. जिसमें कई जगह आगजनी की घटनाएं भी हुई थीं. लिहाजा इस बार जुमे की नमाज पर पुलिस पहले से अलर्ट पर है.

इन 14 जिलों में बंद है इंटरनेट सेवा

प्रदेश के 14 जिलों में सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट शटडाउन किया गया है. गाजियाबाद में तो बीते गुरुवार की रात 10 बजे से इंटरनेट सेवा बंद रखी गई है. आपको उन सभी शहरों के नाम बताते हैं. जहां सुरक्षा के लिहाज से प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद किया है. नीचे पढ़ें उन 14 जिलों के नाम, जहां इंटरनेट शटडाउन किया गया है.

  1. गाजियाबाद
  2. बुलंदशहर
  3. आगरा
  4. संभल
  5. मुजफ्फरनगर
  6. बिजनौर
  7. सहारनपुर
  8. फिरोजाबाद
  9. अलीगढ़
  10. मथुरा
  11. शामली
  12. कानपुर
  13. सीतापुर
  14. मेरठ

हालात को काबू में रखने के लिए पुलिस तैनात

सहारनपुर को संवेदनशील मानते हुए प्रशासन ने दो कंपनी पीएसी और एक कंपनी आरएएफ को तैनात कर दिया है. इसके अलावा बाकी जगहों से भी सिविल पुलिस फोर्स को भी कई जगहों से बुलाया गया है. शहर-शहर में एसपी खुद फ्लैग मार्च कर रहे हैं.

योगी सरकार ने शुक्रवार को किसी तरह की हिंसा भड़कने और विरोध प्रदर्शन के लिए अफवाह उड़ने से रोकने के लिए कई जिलों में इंटरनेट बंद कर दिया है.

पिछले शुक्रवार को नमाज के बाद प्रदेश के कई शहरों भी हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए थे. लिहाजा इस बार जुमे की नमाज पर पुलिस प्रशासन सतर्क है. संवेदनशील इलाकों में हर कोतवाली, थाने और चौकियों में मुस्लिम धर्मगुरुओं को बुलाकर उनसे शान्ति बनाये रखने की अपील की गई है.

इसे भी पढ़ें: यूपी हिंसा पर एक और बड़ा खुलासा, ISI कनेक्शन आया सामने

योगी सरकार फुल एक्शन में है. और 498 हिंसक प्रदर्शनकारियों की संपत्ति ज़ब्त करने की तैयारी कर चुकी है । दंगा और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने को लेकर यूपी में अब तक कुल 498 लोगों को सम्पत्ति जब्त का नोटिस दिया गया है

इसे भी पढ़ें: दंगाई ब्रिगेड पर कसता जा रहा कानूनी शिकंजा! यूपी हिंसा की SIT जांच के निर्देश