World Cup 2019: जानिए जो रूट ने क्यों कहा, इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया से सीखने की जरूरत
topStorieshindi

World Cup 2019: जानिए जो रूट ने क्यों कहा, इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया से सीखने की जरूरत

इस बार इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में इंग्लैंड के बल्लेबाज जो रूट को विश्व कप में कुछ विशेष करने की उम्मीद है.

World Cup 2019: जानिए जो रूट ने क्यों कहा, इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया से सीखने की जरूरत

लंदन: इस बार आईसीसी विश्व 2019 में भले ही इंग्लैंड को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा हो, लेकिन इंग्लैड या कोई अन्य टीम अपनी जीत को लेकर आश्वस्त होने के स्थिति में  नहीं है. वहीं इंग्लैंड के टीम के बल्लेबाज जो रूट का मानना है कि टीम को मौजूदा विजेता ऑस्ट्रेलिया से काफी कुछ सीखना होगा. इंग्लैंड की टीम  इस समय आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर एक पोजीशन पर है और वह काफी समय से अपने घर में अजेय है. 

 
क्या सीखने की जरूरत है ऑस्ट्रेलिया से इंग्लैंड से
रूट ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने सही समय पर लय हासिल की और स्टीवन स्मिथ तथा डेविड वार्नर के आने के बाद से टीम और मजबूत लग रही है. रूट ने कहा, "ऑस्ट्रेलियाई टीम हमेशा से मजबूत टीम रही है. वह हमेशा से विश्व कप में अव्वल रैंकिंग और टीम में गहराई के साथ गई हैं. उन्होंने कई दबाव के पाल जीते हैं. इसलिए उनसे काफी कुछ सीखने को मिलता है."

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: रिकी पोंटिग ने कहा, बचा सकती है ऑस्ट्रेलिया अपना खिताब अगर...

इस बात से पड़ा बड़ा फर्क
उन्होंने कहा, "दो सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी (स्मिथ और वार्नर) टीम में वापस आ गए हैं. यह बेहद रोमांचक टूर्नामेंट होने वाला है. मैं इसे लेकर आश्वस्त हूं कि विश्व कप किसी को भी निराश नहीं करेगा." इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान ने कहा, "हम ऑस्ट्रेलिया की सबसे मजबूत टीम को मात देना चाहते हैं. यह हमारे लिए रोमांचक बात है. हमारे पास कुछ विशेष करना का बेहतरीन मौका है."

चार साल में काफी सुधार किया है इंग्लैंड ने 
रूट ने कहा, "मैं इस तरह से सोचता हूं कि हमने बीते चार साल में काफी सुधार किया है. हम वहां से काफी आगे हैं जहां थे. हमने नंबर-1 टीम का तमगा हासिल करने के लिए काफी मेहनत की है. मुझे लगता है कि हमें इसका लुत्फ उठाना चाहिए. हमें इससे काफी आत्मविश्वास तो मिला है." रूट ने कहा, "सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे अंदर आत्मविश्वास है, लेकिन हम पहले से ज्यादा हकीकत में जीते हैं. आपको लगातार कड़ी मेहनत करनी होती है. आपको एक टूर्नामेंट जीतने के लिए निरंतरता दिखानी होती है."

यह भी पढ़ें: World Cup: ओवल में पाक ने भारत से छीनी थी चैंपियन्स ट्रॉफी, अब होगा INDvsAUS मुकाबला

यह हाल हुआ था इंग्लैंड का उसके घरेलू विश्व कप में
माना जा रहा है कि इंग्लैंड के इस विश्व कप में घरेलू टीम होने का भी जबर्दस्त फायदा होने की उम्मीद है. हालांकि विश्व कप इतिहास इस मामले में इंग्लैड के खिलाफ है. इंग्लैंड 1975 विश्व में सेमीफाइनल में पहुंची थी वहीं 1979 में उसे फाइनल में ही हार का सामना करना पड़ा था. वहीं 1983 में उसे कपिल देव की कप्तानी वाली टीम से सेमीफाइनल में हार मिली थी. इसके बाद 1999 में वह सुपर सिक्स मुकाबलों में पहुंचने में भी नाकाम रही थी. 
(इनपुट आईएएनएस)

Trending news