close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ट्रेन में सफर के दौरान महिला को हुई प्रसव पीड़ा, 1 रुपये क्लीनिक स्टाफ ने ऐसे की मदद

महिला को पीड़ा में देखकर एक रुपये क्लीनिक स्टाफ ने उसकी मदद की, जिसके बाद महिला ने बच्चे को जन्म दिया. बच्चे के जन्म के बाद नर्सिंग स्टाफ की मां और नवजात के साथ तस्वीर शेयर की गई है. 

ट्रेन में सफर के दौरान महिला को हुई प्रसव पीड़ा, 1 रुपये क्लीनिक स्टाफ ने ऐसे की मदद
फोटो साभार : ANI

नई दिल्ली : कोंकण कन्या एक्सप्रेस से एक गर्भवती महिला रेल यात्रा कर रही थी. इसी दौरान उन्हें दर्द शुरू हुआ, जिसके बाद महिला ने बच्चे को जन्म दिया. यह किसी फिल्म की स्क्रिप्ट नहीं बल्कि वास्तविक घटना है. यह मामला मुंबई के ठाणे स्टेशन में सामने आया है. 

न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार को एक 20 साल की गर्भवती महिला कोंकण कन्या एक्सप्रेस से मुंबई जा रही थी. इसी दौरान महिला को दर्द शुरू हुआ और ठाणे स्टेशन पर उसने बच्चे को जन्म दिया. जानकारी के मुताबिक, यात्रा के दौरान जब ठाणे स्टेशन पर महिला उतरी तो एक रुपये क्लनिक स्टाफ ने उसकी मदद की. महिला को पीड़ा में देखकर एक रुपये क्लीनिक स्टाफ ने उसकी मदद की, जिसके बाद महिला ने बच्चे को जन्म दिया. बच्चे के जन्म के बाद नर्सिंग स्टाफ की मां और नवजात के साथ तस्वीर शेयर की गई है. 

क्या है 1 रुपये क्लीनिक
सेंट्रल रेलवे और 'मैजिकदिल' के आपसी सहयोग से घाटकोपर रेलवे स्टेशन पर 'वन रुपी क्लिनिक' की शुरुआत की गई थी. जिसके बाद इसका कई रेलवे स्टेशनों पर विस्तार किया गया. इसके तहत मरीजों को जहां इमर्जेंसी सेवाएं निःशुल्क उपलब्ध होती है. वहीं 1 रुपये का ओपीडी पेपर लेकर मरीज डॉक्टरों से इलाज भी करा सकते हैं. साथ ही, डिस्काउंट रेट पर उन्हें दवा भी क्लिनिक द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी. बता दें कि सेंट्रल रेलवे पर रोजाना 38 लाख यात्री सफर करते हैं, ऐसे में इस पहल के जरिए यात्रियों सहित आम लोगों को काफी फायदा मिलता है.