close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धौलपुर: दो सगी बहनों से दुष्कर्म के मामले में नया खुलासा, सवालों के घेरे में माता-पिता

सीओ ने बताया कि बड़ी बेटी ने बयानों में बताया कि पिता ने जिस व्यक्ति को आरोपित बनाया है, वह उसके साथ विगत 6 माह से रह रही है. उससे 26 दिसंबर 2018 विवाह भी कर लिया है. 

धौलपुर: दो सगी बहनों से दुष्कर्म के मामले में नया खुलासा, सवालों के घेरे में माता-पिता
गौरतलब है कि 13 जुलाई को पिता ने कंचनपुर थाने में मामला दर्ज कराया था

धौलपुर: प्रदेश के धौलपुर जिले के कंचनपुर थाना क्षेत्र में दो बहनों को बंधक बनाकर दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस पूछताछ में नया खुलासा हुआ है. कंचनपुर थाने में पिता की ओर से दर्ज कराए गए मामले में जिस बड़ी बेटी को आरोपित के चंगुल में बताया जा रहा था, वह खुद ही जांच अधिकारी सैपऊ पुलिस उपाधीक्षक बासुदेव सिंह के पास बयान देने पहुंच गई. 

सीओ ने बताया कि बड़ी बेटी ने बयानों में बताया कि पिता ने जिस व्यक्ति को आरोपित बनाया है, वह उसके साथ विगत 6 माह से रह रही है. उससे 26 दिसंबर 2018 विवाह भी कर लिया है. वह पहले तो कभी बाड़ी तो कभी गांव आती रहती थी. बाद में पिता को पता चल गया तो उसके साथ मारपीट की थी. इसके चलते उसने महिला सुरक्षा केंद्र धौलपुर में सुरक्षा की गुहार लगाई थी. जिस पर केंद्र वाले उसे धौलपुर में एसपी के पास लेकर गए जहां से परिवाद को कंचनपुर थाने भेजा गया. इस पर एसडीएम कोर्ट में उसके माता-पिता तथा ताऊ को परेशान नहीं करने के लिए पाबंद किया था. 

लड़की के मुाबिक 21 अप्रैल 2019 को उसकी छोटी बहन माता पिता तथा व नरेश के साथ नवोदय में परीक्षा देने आई थी. वहां पर पिता ने उससे घर चलने की बात कही, लेकिन उसने इंकार कर दिया. उसने कहा कि वह तो खुले में नरेश के साथ घूम रही है. उसका न तो अपहरण हुआ है और ना ही बंधक बनाया है. बड़ी बेटी के बयानों के बाद पुलिस ने जांच की गति तेज कर दी है.

गौरतलब है कि 13 जुलाई को पिता ने कंचनपुर थाने में मामला दर्ज कराया था. जिसमें उसकी दोनों बेटियों के अपहरण कर बंधक बनाने तथा ढाई माह तक बलात्कार करने का गंभीर आरोप लगाया था. पुलिस को दर्ज कराए गए मुकदमे में नरेश को आरोपित बनाया था. प्रकरण में पुलिस ने छोटी बेटी का रेप संबंधी मेडिकल कराया है. इधर पुलिस उपाधीक्षक वासुदेव सिंह ने बताया कि अब दोनों बहनों के धारा 164 में बयान दर्ज कराए जाएंगे. मामले की तफ्तीश में छोटी बेटी के गायब होने एवं दुष्कर्म की जानकारी की जाएगी.

मामले में बड़ी बेटी ने बताया कि मेरे माता-पिता मेरी छोटी बहन को हथियार बनाकर कंचनपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. मेरे माता-पिता मेरे पति को झूठे बलात्कार के मुकदमे में फंसा ना चाहते हैं. युवती ने बताया कि हमने सहमति से 26 दिसंबर 2018 को कोर्ट में शादी की थी. मेरे द्वारा गैर समाज के लड़के से शादी करने पर मेरा परिवार नाखुश हो गया था,और मेरे माता-पिता मुझे परेशान करने लगे. 

युवती ने बताया कि माता-पिता की मारपीट और परेशानी से तंग आकर 23 अप्रैल 2019 को महिला सुरक्षा केंद्र धौलपुर में सुरक्षा की गुहार लगाई थी. जिसमें हमने महिला सुरक्षा केंद्र और पुलिस अधीक्षक के समक्ष बयान भी दिए थे. उसके बाद मेरे माता-पिता को 6 माह के लिए पाबंद भी किया गया था. युवती ने बताया कि उसको अब खतरा सिर्फ अपने माता पिता से है. युवती ने अपनी और अपने पति की जान माल की गुहार भी लगाई है.

उधर दुष्कर्म के आरोप लगे नरेश गुर्जर ने बताया कि मेरी पत्नी के माता-पिता द्वारा छोटी बेटी को हथियार बनाकर मुझ पर अपहरण और दुष्कर्म के जो आरोप लगाए हैं. वह सभी झूठे और बेबुनियाद हैं. मैने मेरी पत्नी के माता-पिता से परेशान होकर महिला सुरक्षा केंद्र धौलपुर में सुरक्षा की गुहार लगाई थी. उसके बाद एसपी ऑफिस भी हम पहुंचे थे. तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने 6 माह के लिए मेरी पत्नी के माता-पिता को पाबंद भी कराया गया था. कंचनपुर पुलिस थाने में मुझ पर अपहरण और बलात्कार के जो आरोप लगाए हैं, वह सभी झूठे हैं. आरोपी ने बताया कि वह अपनी पत्नी के साथ स्वतंत्र और खुलकर रहना चाहता है. आरोपी ने पुलिस के समक्ष पहुंचकर बयान देकर सुरक्षा की मांग की है.