Ratan Tata ने गर्भवती हथिनी की मौत पर मांगा इंसाफ, कहा- मैं दुखी और स्तब्ध हूं

मशहूर बिजनेसमैन रतन टाटा ने केरल में भूखी गर्भवती हथिनी की अन्नास के साथ पटाखे खाने से हुई मौत पर दुख जताया है.

Ratan Tata ने गर्भवती हथिनी की मौत पर मांगा इंसाफ, कहा- मैं दुखी और स्तब्ध हूं
रतन टाटा (फाइल फोटो).

नई दिल्ली: केरल में भूखी गर्भवती हथिनी की अन्नास के साथ पटाखे खाने से हुई मौत ने हर किसी को दुखी और गुस्से से भर दिया है. मशहूर बिजनेसमैन रतन टाटा (Ratan Tata) भी अपना दुख नहीं छिपा सके. उन्होंने ट्वीट कर हथिनी के साथ हुई इस हैवानियत को हत्या करार देते हुए इंसाफ की मांग की है.

रतन टाटा ने ट्वीट में लिखा- 'मैं यह जानकर दुखी और स्तब्ध हूं कि कुछ लोगों के पटाखों से भरा अनानास  ने गर्भवती मादा हाथी की मौत हो गई. निर्दोष जानवरों के प्रति इस तरह का आपराधिक रवैया ठीक उसी तरह है जैसे किसी व्यक्ति की इरादतन हत्या. इंसाफ की दरकार है.'

ये भी पढ़ें: विदेश से लौटे भारतीय ध्यान दें: देश में आपकी नौकरी पक्की! तैयारी में जुटी सरकार

 

आपको बता दें कि केरल के साइलेंट वैली फॉरेस्ट में एक गर्भवती जंगली हाथी मानव क्रूरता का शिकार हो गई. हथिनी के मुंह में पटाखे से भरा अनानास फट गया. हथिनी के सारे मसूड़े बुरी तरह फट गए और वह खा भी नहीं पा रही थी. आखिरकार बेजुबान हाथी की मौत हो गई. मुख्य वन्यजीव वार्डन सुरेंद्र कुमार का कहना है कि माना जा रहा है कि पटाखा हथिनी को मारने के इरादे से ही खिलाया गया था. जानकारी के मुताबिक, हाथी की मौत 27 मई को मलप्पुरम जिले में वेल्लियार नदी में हुई.