Republic Day 2019: गणतंत्र दिवस पर Google ने बनाया खास Doodle, देखें क्या है खास

 गूगल ने यह डूडल 'India's Republic Day' शीर्षक के साथ यह डूडल बनाया है, जिसमें पूरे भारत की झलक दिखाई देती है.

Republic Day 2019: गणतंत्र दिवस पर Google ने बनाया खास Doodle, देखें क्या है खास
गणतंत्र दिवस पर गूगल ने बनाया खास डूडल (फोटो साभारः google.com)

नई दिल्लीः 26 जनवरी को भारत अपना 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. ऐसे में पूरे देश के साथ-साथ गूगल ने भी खास डूडल बनाकर लोकतंत्र के इस पर्व पर भारत को सम्मानित किया है. गूगल ने यह डूडल 'India's Republic Day' शीर्षक के साथ यह डूडल बनाया है, जिसमें पूरे भारत की झलक दिखाई देती है. बता दें यह दिन भारत के हर वर्ग के लोगों के लिए काफी मायने रखता है, ऐसे में देशवासियों के उल्लास और इस पर्व के प्रति उनके सम्मान को देखते हुए गूगल ने यह डूडल बनाया है. यही कारण है कि आज के दिन सभी देश और धर्म के लोग इस दिन को पूरे राष्ट्र प्रेम के भाव के साथ मनाते हैं.

गणतंत्र दिवस की परेड होगी खास, 22 झांकियों में दिखेगी देशभक्ति की झलक

Doodle ने इस तरह भारत के 70वें गणतंत्र दिवस के जश्न को मनाया है. गणतंत्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है, जो प्रतिवर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है. इसी दिन सन् 1950 में भारत का संविधान लागू किया गया था. एक स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नंवबर 1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और 26 जनवरी 1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया.

26 जनवरी को इसलिए चुना गया था, क्योंकि 1930 में इसी दिन भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था. यही वजह रही कि इस दिन गणतंत्र दिवस मनाया जाता है. भारत सरकार ने जिन तीन राष्ट्रीय अवकाशों को घोषित किया है, उनमें से गणतंत्र दिवस एक है, जबकि दो अन्य क्रमश: स्‍वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती हैं. भारत में पहला गणतंत्र दिवस साल 1950 में पहली बार मनाया गया था. 26 जनवरी 1950 को हमें भारत का संविधान और डॉ. राजेंद्र प्रसाद के रूप में भारत के प्रथम राष्ट्रपति मिले थे. पहला गणतंत्र दिवस मनाते हुए प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने इरविन स्टेडयिम में भारतीय तिरंगा फहराया था.

Republic Day 2019: इन खास Messages के साथ दोस्तों और परिवार को दें गणतंत्र दिवस की बधाई

1950 से ही शुरू हुई अतिथि बुलाने की परंपरा
साल 1950 में ही गणतंत्र दिवस पर अतिथि बुलाने की परंपरा की भी शुरुआत हुई थी. पहले गणतंत्र दिवस पर इंडोनेशिया के तत्कालीन राष्ट्रपति सुकर्णो मुख्य अतिथि बनकर आए थे. वहीं इस बार  दक्षिण अफ़्रीकी राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा 70वें गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि के तौर पर शामिल हो रहे हैं.