close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हार के कारणों पर 26 मई को समीक्षा करेगी AAP, बनाई जाएगी विधानसभा चुनाव की रणनीति

आप ने 26 मई को पार्टी की प्रदेश इकाईयों के संयोजकों और अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है. 

हार के कारणों पर 26 मई को समीक्षा करेगी AAP, बनाई जाएगी विधानसभा चुनाव की रणनीति
आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने लोकसभा चुनाव में करारी हार के कारणों की समीक्षा कर दिल्ली के आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति तय करने के लिए 26 मई को पार्टी की प्रदेश इकाईयों के संयोजकों और अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक बुलाई है. 

आप के दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने शुक्रवार को बताया कि पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में चुनाव में निराशाजनक प्रदर्शन की समीक्षा कर भविष्य की रणनीति भी तय की जाएगी.

उल्लेखनीय है कि इस साल के अंत या अगले साल के शुरु में दिल्ली विधानसभा के संभावित चुनाव के मद्देनजर आप के लिए इस चुनाव को दिल्ली की दौड़ के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा था. आप को फरवरी 2015 में दिल्ली विधानसभा की 70 में से 67 सीट पर ऐतिहासिक बहुमत मिला था. 

सिर्फ पंजाब में एक सीट पर मिली कामयाबी
आप ने दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में लोकसभा चुनाव मैदान में अपने उम्मीदवार उतारे थे. सिर्फ पंजाब में एक सीट को छोड़कर पार्टी के सभी उम्मीदवार चुनाव हार गये. पार्टी की पंजाब इकाई के संयोजक और संगरुर से मौजूदा सांसद भगवंत मान ही अपनी सीट बचा पाने में कामयाब रहे. 

गोपाल राय ने कहा,‘लोकसभा चुनाव में मिले जनादेश को हम सम्मान के साथ स्वीकार करते हैं. हम चुनाव परिणाम का मंथन भी कर रहे हैं.’ 

'चुनाव ‘मोदी बनाम राहुल’ आधार पर लड़ा गया'
उन्होंने बताया कि दिल्ली की सात सीटों के चुनाव परिणाम के बारे में पार्टी ने अपने सभी प्रत्याशियों के साथ विधानसभा क्षेत्रों के आधार पर प्रदर्शन पर चर्चा की. राय ने कहा कि इसके आधार पर पार्टी इस नतीजे पर पहुंची है कि पूरे देश में चुनाव ‘मोदी बनाम राहुल’ आधार पर लड़ा गया और दिल्ली में भी इस स्थिति के कारण पूर्ण राज्य का मुद्दा अनसुना रह गया. 

राय ने कहा कि चर्चा में एक और बात सामने आई कि भाजपा और कांग्रेस को वोट देने वाले मतदाता दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप को ही वोट देने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 

उन्होंने बताया कि चुनाव परिणाम की समीक्षा के लिए पार्टी ने 26 मई को कार्यकर्ताओं के साथ केजरीवाल का ‘संवाद कार्यक्रम’ आयोजित किया है. इसमें केजरीवाल पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सीधे संवाद करेंगे. इसके अलावा केजरीवाल, आप की प्रदेश इकाईयों के संयोजकों और अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक कर आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति तय करेंगे.