close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO : मतदान केंद्र पर इस कदर आग-बबूला हुआ उम्‍मीदवार, उठाकर पटक दी EVM मशीन

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) : पुलिस ने आरोपी को ईवीएम को क्षतिग्रस्त करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. 

VIDEO : मतदान केंद्र पर इस कदर आग-बबूला हुआ उम्‍मीदवार, उठाकर पटक दी EVM मशीन
मधुसूदन गुप्ता ने अनंतपुर जिले के गुंतकल विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर ईवीएम को फर्श पर फेंक दिया. फोटो साभार- ANI

अमरावती : लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के तहत आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों के अलावा 175 सदस्यीय विधानसभा के लिए हो रहे मतदान के दौरान जन सेना पार्टी का एक उम्मीदवार मतदान केंद्र पर इस कदर गुस्‍सा हो गया कि उसने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को उठाकर फर्श पर पटक दिया और उसे क्षतिग्रस्‍त कर दिया. इसके बाद पुलिस ने उसे ईवीएम को क्षतिग्रस्त करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया. 

पुलिस ने कहा कि मधुसूदन गुप्ता ने अनंतपुर जिले के गुंतकल विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र पर ईवीएम को फर्श पर फेंक दिया. गुट्टी में मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने आए गुप्ता मशीन पर ठीक से विधानसभा और संसदीय क्षेत्रों के नाम नजर नहीं आने से मतदान कर्मचारियों से नाराज थे.

लोकसभा चुनाव 2019 : सुबह 9 बजे तक इस सीट पर मतदाताओं ने डाल दिए सबसे ज्‍यादा वोट

 

गुप्‍ता ने मशीन को क्षतिग्रस्‍त करने से पहले कहा कि यह पूरी तरह बोगस है और गलत है. क्‍या ऐसा अन्‍याय करके चुनाव कराए जाएंगे?

 

 

उन्होंने ईवीएम को उठाकर फर्श पर फेंक दिया. इस घटना में मशीन क्षतिग्रस्त हो गई. घटना के बाद गुप्ता को फौरन गिरफ्तार कर लिया गया.

उल्‍लेखनीय है कि आंध्र प्रदेश के बंटवारे के बाद राज्य में गुरुवार को पहली बार लोकसभा की 25 एवं विधानसभा की 175 सीटों पर चुनाव सुबह सात बजे शुरू हो गया. राज्य में कुल 3,93,45,717 मतदाता हैं, जिनमें 1,94,62,339 पुरुष, 1,98,79,421 महिलाएं और 3,957 ट्रांसजेंडर शामिल हैं. इनमें से 18-19 वायु वर्ग के 10.5 लाख मतदाता पहली बार मतदान करेंगे.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव LIVE: मतदान जारी...

राज्य में लोकसभा की 25 सीटों के लिए 319 उम्मीदवार और विधानसभा की 175 सीटों के लिए 2,118 उम्मीदवार मैदान में हैं. राज्य में कुल 46,120 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें 8,514 की पहचान संवेदनशील और 520 की वाम चरमपंथ प्रभावित इलाके के तौर पर की गई है.