टिकट कटने पर बागी हुए उदित राज, कुछ ही घंटों में फिर बन गए 'चौकीदार'

उत्तर पश्चिम दिल्ली लोकसभा सीट से बीजेपी ने मौजूदा सांसद उदित राज का टिकट काटकर सूफी गायक हंसराज हंस को नामांकन के आखिरी दिन प्रत्याशी घोषित किया गया. 

टिकट कटने पर बागी हुए उदित राज, कुछ ही घंटों में फिर बन गए 'चौकीदार'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में 'मैं भी चौकीदार' कैंपेन के तहत ट्विटर पर अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लिखा था.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के मद्देनजर बीजेपी ने दिल्ली की सात संसदीय सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है. इन उम्मीदवारों में से क्रिकेटर गौतम गंभीर और सूफी गायक हंसराज हंस ने मंगलवार को अपना नामांकन दाखिल कर दिया. इन सबके बीच दिल्ली की उत्तर पश्चिमी सीट काफी चर्चा का विषय बनी रही. दरअसल, बीजेपी ने उत्तर पश्चिमी सीट से मौजूदा सांसद उदित राज का टिकट काटकर हंसराज हंस को प्रत्याशी घोषित कर दिया. घोषणा के बाद उदित राज ने बागी सुर अपनाते हुए पार्टी छोड़ने की बात कही थी.

 

 

ये भी पढ़ें: नॉर्थ वेस्ट दिल्ली से उदित राज का कटा टिकट, हंसराज हंस होंगे बीजेपी प्रत्याशी

इससे पहले बीजेपी से टिकट मिलने पर सस्पेंस के बीच उदित राज ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे से 'चौकीदार' हटा लिया था. हालांकि, कुछ ही घंटों के अंदर उदित राज ने एकबार फिर से अपने नाम के आगे 'चौकीदार' जोड़ लिया.

 

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में 'मैं भी चौकीदार' कैंपेन के तहत ट्विटर पर अपने नाम के आगे 'चौकीदार' लिखा था. उनके साथ बीजेपी के सभी नेताओं और समर्थकों ने भी अपने नाम के साथ 'चौकीदार' शब्द जोड़ लिया था. 

 

 

ये भी पढ़ें: टिकट पर सस्पेंस के बीच उदित राज बोले, 'BJP अध्यक्ष अमित शाह नहीं उठा रहे मेरा फोन'

बता दें कि उत्तर पश्चिम दिल्ली लोकसभा सीट पर बीजेपी की ओर से सूफी गायक हंसराज हंस को नामांकन के आखिरी दिन प्रत्याशी घोषित किया गया. बीजेपी ने इस सीट से मौजूदा सांसद उदित राज का टिकट काट दिया. बीजेपी नेता और उत्‍तर-पश्चिमी दिल्‍ली (सुरक्षित) सीट से लोकसभा सांसद उदित राज ने अपने ट्विटर अकाउंट से टिकट नहीं मिलने की स्थिति में पार्टी छोड़ने की धमकी दी थी. उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, ''मैं अभी भी टिकट का इंतजार कर रहा हूं. यदि मुझे नहीं मिला तो मैं पार्टी को अलविदा कह दूंगा.''