close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

French Open: जोकोविच के पास इतिहास रचने का मौका, नडाल बन सकते हैं रोड़ा

फ्रेंच ओपन जीत कर नोवाक जोकोविच एक साल में चारों ग्रैंड स्लैम जीतने का रिकॉर्ड बना सकते हैं. उनके रास्ते में नडाल, फेडरर चुनौती बन कर खड़े होंगे. 

French Open: जोकोविच के पास इतिहास रचने का मौका, नडाल बन सकते हैं रोड़ा
(फाइल फोटो)

पेरिस: फ्रेंच ओपन में दुनिया के नंबर वन पुरुष खिलाड़ी नोवाक जोकोविच के पास इतिहास रचने का मौका है. जोकोविच फेंच ओपन जीतकर टेनिस इतिहास में ऐसे दूसरे खिलाड़ी हो सकते है जिन्होंने दो बार सभी चारों ग्रैंडस्लैम खिताब को अपने नाम किया हो. टूर्नामेंट में दिग्गज रोजर फेडरर की वापसी और राफेल नडाल के लय में आने से विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज जोकोविच का रास्ता इतना आसान नहीं होगा.

26 मई से शुरू होंगे प्रमुख फ्रेंच मुकाबले
फ्रेंच ओपन के क्वालीफायर मुकाबले 20 मई से खेले जा रहे है जबकि मुख्य मुकाबले 26 मई से शुरू होंगे. इस बार राफेल नडाल जोकोविच के लिए प्रमुख चुनौती होंगे. इसकी दो वजह बताई जा रही हैं. पहली तो यह कि नडाल ने हाल ही में चोकोविच को इटैलियन ओपन में हराया कर खिताब जीता है. दूसरी वजह है नडाल की क्ले कोर्ट में बादशाहत. इसके साथ नडाल का बेहतरीन लय में होना जोकोविच के लिए एक बड़ी चुनौती से कम नहीं होगा. 

यह भी पढ़ें :  Italian Open: नडाल ने साबित की अपनी बादशाहत, नंबर वन जोकोविच को फाइनल में हराया

शानदार रिकॉर्ड है जोकोविच का, पर नडाल-फेडरर से पीछे
जोकोविच इससे पहले 2016 में चारों गैंडस्लैम खिताब जीत चुके है. उन्होंने 2018 में विम्बलडन और यूएस ओपन का खिताब जीतने के बाद इस साल जनवरी में अपना सातवां ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता है. जोकोविच ने अब तक 15 गैंडस्लैम खिताब जीते हैं जबकि इस मामले में फेडरर और नडाल क्रमश: 20 और 17 खिताब के साथ उनसे आगे है. इन दोनों खिलाड़ियों ने भी करियर स्लैम को पूरा किया है लेकिन एक साथ चारों बड़े खिताब एक बार में जीतने में सफल नहीं रहे हैं. टेनिस के इतिहास में जोकोविच से पहले सिर्फ डान बुड्गे (1938) और राड लावेर (1962 और 1969) ही एक साथ चारों खिताब के विजेता रहे है.

 फेडरर नहीं नडाल हैं जोकोविच के लिए बड़ी चुनौती
सर्बिया के जोकोविच को पिछले सप्ताह इटैलियन ओपन में नडाल ने हराया था और स्पेन का यह खिलाड़ी रोलां गैरो में अपना 12वां खिताब जीतना चाहेगा. रिकार्ड 11वीं बार फ्रेंच ओपन जीतने वाले नडाल ने रविवार को नौवीं बार इटैलियन ओपन चैम्पियन बनकर लय में होने का संकेत दे दिया है. फेडरर 2015 के बाद पहली बार इस टूर्नामेंट में खेलेंगे. अगर वह 37 साल की उम्र में इस खिताब को जीतते है तो फ्रेंच ओपन के सबसे उम्रदराज विजेता होंगे. 

यह भी पढ़ें: ATP Ranking: जोकोविच इटैलियन ओपन हारकर भी टॉप पर, नडाल जीतकर भी दूसरे नंबर पर

यह युवा खिलाड़ी भी चुनौती देने को है तैयार
जोकोविच और फेडरर के अलावा विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर काबिज डोमनिक थिएम और छठे पायदान पर काबिज यूनान के स्टेफानोस सितसिपास भी जीत के दावेदार होंगे. इस खेल के अगले बड़े खिलाड़ी के तौर पर देखे जा रहे जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव के प्रदर्शन पर भी सबकी निगाहें होगी. सितसिपास फेडरर और नडाल दोनों को ही हरा चुके हैं और विशेषज्ञ भी उनसे खासे प्रभावित बताए जा रहे हैं. 
(इनपुट भाषा)