बजट से पहले जनता को मोदी सरकार का तोहफा, इतने रुपये सस्ता हुआ LPG सिलेंडर

सब्सिडी वाला LPG सिलेंडर 1.46 रुपये प्रति सिलेंडर सस्ता हो गया है.

बजट से पहले जनता को मोदी सरकार का तोहफा, इतने रुपये सस्ता हुआ LPG सिलेंडर
बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम 30 रुपये घटाये गये हैं. (फाइल)

नई दिल्ली: बजट से पहले जनता को मोदी सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है. रसोई गैस की कीमत में एकबार फिर कटौती की गई है. सब्सिडी वाला LPG सिलेंडर 1.46 रुपये प्रति सिलेंडर सस्ता हुआ. बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम 30 रुपये घटाये गये. इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने यह जानकारी दी.अब सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 493.53 रुपये है. पहले यह कीमत 494.99 रुपये थी. अब बिना सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत भी 30 रुपये घटकर 659 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है. नई कीमत गुरुवार 12 बजे रात के बाद लागू होगी.

पिछले तीन महीने से लगातार कीमतों में कटौती की जा रही है. इससे पहले 31 दिसंबर को सब्सिडी वाले LPG गैस सिलेंडर की कीमत में 5.91 रुपये और बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में 120.50 रुपये की कटौती की गई थी. उस कटौती के बाद सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर की कीमत 494.99 रुपये हो गई. पहले यह कीमत 500.90 रुपये थी. बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में 120.50 रुपये की कटौती की गई. कटौती के  बाद 14.2 किलो सिलेंडर की कीमत 689 रुपये हो गई.

बजट से पहले बाजार में बहार, Sensex 665 अंक की ऊंची छलांग लगाकर बंद

इससे पहले 1 दिसंबर को कीमतों में कटौती की गई थी. उस समय सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर 6.52 रुपये सस्ता हुआ था जबकि बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का बाजार मूल्य 133 रुपये कम हुआ था. कीमत घटने के बाद दिल्ली में 14.2 किलो के सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत 500.90 रुपये थी.

अंतराराष्ट्रीज बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में कटौती के चलते कीमतें लगातार घट रही हैं.एलपीजी की औसत अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क दर और विदेशी मुद्रा विनिमय दर के अनुरूप एलपीजी सिलेंडर के दाम तय होते हैं जिसके आधार पर सब्सिडी राशि में हर महीने बदलाव होता है. ऐसे में जब अंतरराष्ट्रीय कीमतें बढ़ती हैं तो सरकार अधिक सब्सिडी देती है और जब कीमतें कम होती है तो सब्सिडी में कटौती की जाती है.

3 बार आए ऐसे मौके, जब प्रधानमंत्री को खुद पेश करना पड़ा बजट, जानिए क्यों?

एलपीजी ग्राहकों को सिलेंडर बाजार कीमत पर लेने होते हैं. सरकार एक उपभोक्ता को साल में अधिकतम 12 सिलेंडर पर सब्सिडी देती है. सब्सिडी हर महीने अलग-अलग हो सकती है जो विदेशी मुद्रा विनिमय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलपीजी की कीमतों के औसत के अनुसार तय की जाती है. इस कटौती के बाद सब्सिडी वाले सिलेंडरों के ग्राहकों को उनके खाते में फरवरी में 165.47 रुपये प्रति सिलेंडर की दर से सब्सिडी मिलेगी. जनवरी में यह राशि 194.01 रुपये थी.