close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेरिका को आंख दिखाने वाले देश को सूखे ने मारा, 1 करोड़ लोगों को नहीं मिल रहा पेट भर खाना

 संयुक्त राष्ट्र की खाद्य एजेंसियों ने संयुक्त आकलन के बाद कहा था कि एक करोड़ लोग भोजन की गंभीर कमी का सामना रहे हैं. 

अमेरिका को आंख दिखाने वाले देश को सूखे ने मारा, 1 करोड़ लोगों को नहीं मिल रहा पेट भर खाना
उत्तर कोरिया द्वारा किसी बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया जाना प्रतिबंधित है..(फोटो- Reuters)

सियोल: उत्तर कोरिया ने कहा कि देश में खाद्य संकट की चिंताओं के बीच वह करीब चार दशक के सबसे बद्तर सूखे का सामना कर रहा है. सरकारी ‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ ने बुधवार को कहा कि इस साल के पांच महीनों में पूरे देश में औसतन 54.4 मिमी (2.1 इंच) बारिश हुई है, जो 1982 के बाद से सबसे कम है. संयुक्त राष्ट्र की खाद्य एजेंसियों ने संयुक्त आकलन के बाद कहा था कि उत्तर कोरिया में एक करोड़ लोग भोजन की गंभीर कमी का सामना रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के राजदूत किम सोंग ने तत्काल खाद्य सहायता की अपील की थी.

प्रतिबंधों की वजह से देश में भोजन की कमी
उत्तर कोरियाई अधिकारियों के अनुसार खराब मौसम और अंतरराष्ट्रीय आर्थिक प्रतिबंधों की वजह से देश में भोजन की कमी आई है. संयुक्त राष्ट्र की ओर से लगाए गए मौजूदा प्रतिबंधों के तहत उत्तर कोरिया द्वारा किसी बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया जाना प्रतिबंधित है. फिर भी पिछले माह उत्तर कोरिया ने मध्यम दूरी की दो मिसाइलें दागी थीं. 

उत्तर कोरिया पर तमाम तरह के प्रतिबंध
इन प्रक्षेपणों से जापान जैसे पड़ोसी देशों पर मंडराने वाले खतरे के कारण इन्हें कहीं अधिक बड़े उकसावे के तौर पर देखा गया था. जिसके बाद उत्तर कोरिया पर तमाम तरह के प्रतिबंध लगा दिए गए थे. प्रतिबंधों के बाद भी उत्तर कोरिया नियमों को ताक पर रखकर आए दिन बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण करता रहता है. 

समाचार एजेंसी ने कहा कि सूखे के हालात मई के अंत तक जारी रहने के आसार हैं
फरवरी माह में किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच कई बार मुलाकात हुई लेकिन समस्या का समाधान नहीं निकला. वहीं दूसरी तरफ उत्तर कोरिया के अधिकारी और कार्यकर्ता नए जल स्रोतों को खोजने और पंपों के साथ सिंचाई उपकरणों को जुटाने का प्रयास कर रहे हैं ताकि कृषि को होने वाले नुकसान को कम किया जा सके. समाचार एजेंसी ने कहा कि सूखे के हालात मई के अंत तक जारी रहने के आसार हैं. 

इनपुट आईएएनएस से भी